fbpx Press "Enter" to skip to content

पूर्णबंदी सही कदम, ग्रीन जोनसे बाहर निकलने की बनें योजना: मोदी

  • अब दो गज दूरी का पालन करना होगा देश को

  • अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने का काम करना होगा

  • आबादी के लिहाज से भारत अभी भी बेहतर स्थिति में

नयी दिल्ली : पूर्णबंदी को एक सही कदम बताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जोर देकर

कहा कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए यह कदम कारगर रहा है लेकिन देश की

अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए राज्यों को दो गज दूरी के मंत्र को ध्यान में रखते

हुए इससे बाहर निकलने की चरणबद्ध योजना पर काम शुरू करना चाहिए। प्रधानमंत्री ने

कहा कि कोरोना का खतरा लंबा चलने की आशंका है इसलिए अब सबको कोरोना से

निपटने के साथ साथ अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के बारे में भी योजना बनाकर उसे

अमल में लाना होगा। कोरोना महामारी के खिलाफ चलाये जा रहे राष्ट्रव्यापी अभियान के

तहत श्री मोदी ने चौथी बार राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ

वीडियो कांफ्रेन्स के माध्यम से बैठक की। श्री मोदी ने कहा कि पूर्णबंदी के बेहद

सकारात्मक परिणाम मिले हैं और समय रहते उठाये गये इन कदमों से पिछले डेढ महीने

में हजारों लोगों की जान बचायी गयी है। उन्होंने कहा कि भारत की आबादी को देखते हुए

हमारी स्थिति अन्य देशों की तुलना में कहीं अच्छी है लेकिन वायरस का खतरा अभी लंबे

समय तक रहने वाला है इसलिए हमेशा सतर्क रहना अत्यधिक जरूरी है। पूर्णबंदी के बाद

अब देश को आगे के रास्ते पर बढने के बारे में सोचना होगा लेकिन साथ ही दो गज दूरी के

मंत्र यानी सामाजिक दूरी के नियम को मानकर चलने से ही इसमें सफलता मिलेगी।

पूर्ण बंदी पर सहमति के बीच आर्थिक गतिविधियों की चिंता

सूत्रों के अनुसार बैठक में तीन मई के बाद पूर्णबंदी को हटाने के बारे में कोई आम सहमति

नहीं बन सकी लेकिन इस बात पर आम राय थी कि देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर

लाने के लिए ग्रीन जोन यानी ऐसे क्षेत्र जहां कोरोना महामारी के मामले नहीं हैं और स्थिति

पूरी तरह नियंत्रण में हैं वहां पिछले एक महीने से भी अधिक समय से ठप पड़ी

गतिविधियों को शुरू कर आगे बढाने के कदम उठाये जायें। बैठक में नौ राज्यों के

मुख्यमंत्रियों ने अपनी बात रखी और इनमें से चार ने पूर्णबंदी की अवधि तीन मई से भी

आगे बढाने का सुझाव दिया। श्री मोदी ने कहा कि विशेषज्ञों की राय है कि कोरोना का

खतरा अभी समाप्त नहीं होने वाला है इसलिए हमें सामाजिक दूरी तथा मास्क को अपनी

जीवन शैली का हिस्सा बनाना होगा। इन परिस्थितियों में हर किसी का उद्देश्य त्वरित

कदम उठाने का होना चाहिए। कुछ लोगों का उदाहरण देते हुए उन्होंने का कि ये स्वयं बता

रहे हैं कि उन्हें खांसी, जुकाम या अन्य लक्षण है यह स्वागत योग्य कदम है। उन्होंने कहा

कि कोरोना से लड़ाई के साथ साथ अब हमें अर्थव्यवस्था पर भी ध्यान देना होगा।

प्रौद्योगिकी के महत्व पर बल देने के साथ ही उन्होंने नये सुधारों को अपनाने की भी बात

कही। कोरोना से देश की लड़ाई को मजबूती प्रदान करने के लिए उन्होंने देशवासियों से

आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड करने को भी कहा। उन्होंने कहा , हमें हिम्मत करनी होगी

और ऐसे सुधार लाने होंगे जो आम लोगों के जीवन से जुड़े हों। प्रधानमंत्री ने राज्यों से कहा

कि वे हॉटस्पॉट क्षेत्रों में पूर्णबंदी से संबंधित दिशा निर्देशों का सख्ती से पालन करें।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from बयानMore posts in बयान »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

2 Comments

  1. […] पूर्णबंदी सही कदम, ग्रीन जोनसे बाहर नि…By Chhabi Vermaअब दो गज दूरी का पालन करना होगा देश को अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने… Leave a Comment […]

Leave a Reply

error: Content is protected !!