fbpx Press "Enter" to skip to content

पंजाब के पास ऑक्सीजन और वैक्सिन दोनों का सीमित भंडारः मुख्यमंत्री




चंडीगढ़ः पंजाब के पास कोविड वैक्सीन का स्टॉक अब सिर्फ पांच दिन के लिये बची है

इसलिये राज्य को इसकी आपूर्ति जल्द भेजी जाये क्योंकि टीकाकरण मुहिम प्रभावित हो

रही है । मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज केन्द्र से आग्रह किया कि राज्य में

कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर एक दिन में 85 हजार से 90 हजार लोगों को टीका

लगाया जा रहा है । राज्य के पास केवल पाँच दिन की सप्लाई बची है । उन्होंने केंद्र

सरकार से पुष्ट किए गए सप्लाई ऑर्डरों के हिसाब से अगली तिमाही के लिए राज्यों के

साथ वैक्सीन की सप्लाई का कार्यक्रम साझा किये जाने की अपील की । कोविड वैक्सीन

की अगली सप्लाई जल्द भेजने की उम्मीद जताते हुए उन्होंने कहा कि यदि राज्य एक

दिन में दो लाख टीकाकरण के लक्ष्य को पूरा करता है तो इस हिसाब से वैक्सीन तीन दिन

में ख़त्म हो जाएगी। उन्होंने प्रधानमंत्री और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिख कर अगली

सप्लाई संबंधी कार्यक्रम साझा करने के लिए कहा है। कोविड की स्थिति को लेकर कांग्रेस

अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ विचार-विमर्श के लिए बुलाई गई वीडियो कान्फ्रेंस के

दौरान मुख्यमंत्री ने बताया कि टीकाकरण की शुरुआत धीरे होने के बावजूद रोजना 85

से 90 हजार लोगों के हिसाब से राज्य में अब तक सोलह लाख व्यक्तियों को कोविड की

खुराकें दे चुका है।बैठक में राहुल गांधी समेत कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने

शिरकत की। कैप्टन सिंह ने बताया कि कृषि कानूनों के मुद्दे पर भारत सरकार के ख़िलाफ

बढ़ रहे गुस्से के कारण अभी बड़ी संख्या में लोग टीकाकरण के लिए सामने नहीं आ रहे।

आम जनता भी किसान आंदोलन से प्रभावित है। यह गुस्सा टीकाकरण मुहिम पर प्रभाव

डाल रहा है।

पंजाब के पास टीकाकरण के लिए मुहिम भी चलायी जा रही

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार टीकाकरण के खिलाफ गलत धारणाओं को दूर करने

के लिये व्यापक स्तर पर मीडिया मुहिम चला रही है । मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के

मामलों में इस समय मुल्क में पंजाब 18वें स्थान पर है और पिछले 15 दिनों से प्रतिदिन

3000 मामलों की औसत के मुताबिक 8 प्रतिशत पॉजिटिविटी दिखाई जा रही है। मामलों

की संख्या में थोड़ी सी स्थिरता आई है, जिससे पता लगता है कि पिछले तीन हफ्तों में

सही दिशा में कदम उठाए गए हैं। राज्य में इस समय पर 27,200 सक्रिय केस हैं और

रिकवरी दर 87.1 प्रतिशत है। कैप्टन सिंह ने बताया कि मास्क न पहनने वाले व्यक्तियों

को आर.टी.-पी.सी.आर टेस्टिंग के लिए ले जाया जाता है और अब तक पुलिस द्वारा ऐसे 2

लाख व्यक्तियों को आर.टी.-पी.सी.आर. टेस्टिंग के लिए ले जाया जा चुका है। सभी

होटलों, रैस्तरां और मैरिज पैलेसों में कोविड मॉनिटर नियुक्त किए गए हैं जिससे कोविड

सम्बन्धी एहतियात को सुनिश्चित बनाया जा सके। अभी तक कोविड वैक्सीन न लेने

वाले हैल्थवर्करों की आम सुरक्षा के लिए साप्ताहिक टैस्ट किए जा रहे हैं। राज्य में ट्रेस्टिंग

बढ़ाई जा रही है तथा उपायुक्तों को टेस्टिंग बढ़ाने के लिए सभी विभागों में मौजूद स्टाफ

का सहयोग लेने को कहा है। मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया कि राज्य में कोविड के मरीजों

को समय पर सही इलाज मुहैया करवाने और उचित संख्या में बैड, दवाएँ और

रैमडिजविर  इंजैक्शन आदि की व्यवस्था की गई है। कोविड पर काबू पाने और प्रबंधन के

लिए ठोस कदम उठाए जाएंगे, जैसे कि हमने पिछले साल किया था।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पंजाबMore posts in पंजाब »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

4 Comments

... ... ...
%d bloggers like this: