fbpx Press "Enter" to skip to content

ब्रिटैनिया और पारले कम्पनी की स्थिती सुधरी, अचानक हुआ लाभ में उछाल

नई दिल्ली : ब्रिटैनिया और पारले कम्पनी की स्थिती अक्टूबर महिने में काफी खस्ते हालात में चल रही थी.

जहाँ कम्पनी के पास अपने कर्मचारियो की छटनी के सिवा कोई अलग उपाय नही दिख रहा था.

चुंकि यह कई हद तक कम्पनी के लिये घाटे का सौदा दिख रहा था.

इसलिये कम्पनियो ने पिछले माह अक्टूबर के महिने में अपनी बिस्कीटो व अन्य प्रोडक्टस का मुल्य बढाना सुनिश्चित किया था.

ब्रिटैनिया की प्राफिट में उछाल

पर हालिया रिपोर्ट की माने तो ऐसी बूरी स्थिती से गुज़र रहे मशहूर बिस्किट कंपनी ब्रिटैनिया इंडस्ट्रीज का दूसरी तिमाही में कंसॉलिडेटे नेट प्रॉफिट में अचानक से उछाल देखने को मिला है.

जो प्राप्त जानकारी के अनुसार 32.90 फीसदी से बढ़कर 402.73 रुपए चला गया.

वही इस मामले में यह भी पता चला की ब्रिटैनिया इंडस्ट्रीज की आमदनी 2,854.81 करोड़ रुपये से बढकर 3,022.91 करोड़ रुपये हो गयी.

साथ ही अन्य आमदनी 55% की बढ़ोतरी के साथ 68.2 करोड़ रुपये की रही.

ऐसा माना जा रहा है कि मंदी का दौर कुछ हद तक समाप्त हो गया है.

चुंकि अभी हाल में मारूति उद्योग भी इसी मंदी की मार झेल रही थी जो नई रिपोर्ट के मुताबिक दिवाली पर्व के दर्म्यान एक बडे लाभ को प्राप्त की है.

ब्रिटैनिया इंडस्ट्रीज के एम डी वरुण बेरी ने इस संदर्भ में बताया है कि कम्पनी तिमाही-दर-तिमाही ग्रोथ का आकलन करती है

जिसके अनुसार ब्रिटैनिया इंडस्ट्रीज की तिमाही ग्रोथ 13 फीसदी है जो बाजार के मुकाबले कही ज्यादा है.

बेरी ने बताया कि मंदी के दौर में भी हमने बेस कारोबार के साथ इनोवेशन और प्रीमियमाइजेशन जारी रखा है.

पारले की स्थिती का जायज़ा

अगस्त माह में पारले कम्पनी अपनी साख बचाने के लिये दस हज़ार कर्मचारियो को काम से निकालाने की घोषणा की था.

क्युंकि पारले कम्पनी की स्थिती सेल घटने के कारण कई हद तक बुरी हो चुकी थी.

जिसके लिये कम्पनी ने जीएसटी दर घटाने की सरकार से गुज़ारिश भी की थी.

पर कम्पनी अधीकारिक बयान के अनुसार पारले की बिस्किट कंपनी का दूसरी तिमाही में मुनाफा 15.2 फीसदी बढ़ गया.

कारोबारी मंच टॉफलर के अनुसार, पारले बिस्कुट को वित्त वर्ष 2019 में 410 करोड़ रुपये नेट प्रॉफिट हुआ.

जो पिछले वर्ष की तुलना में 55 करोड़ रुपये अधीक रहा.

वही कुल राजस्व 6.4 प्रतिशत बढ़कर 9,030 करोड़ रुपये हो गया है.

जो उससे पिछले वर्ष लगभग 6 प्रतिशत बढ़कर 8,780 करोड़ रुपये हो गया था.

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कामMore posts in काम »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from देशMore posts in देश »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!