fbpx Press "Enter" to skip to content

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा बापू के विचारों के प्रसार के लिए सभी काम करें

नयी दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैश्विक विचारकों, उद्यमियों और प्रौद्योगिकी क्षेत्र की हस्तियों को

महात्मा गांधी के विचारों और शिक्षाओं को नवाचार के जरिये फैलाने का आह्वान करते हुए कहा कि

उनके आदर्शों को हासिल करने के लिए सभी को एकजुट होकर काम करना होगा ताकि

विश्व को समृद्ध बनाया जा सके तथा घृणा, हिंसा और पीड़ा से मुक्त किया जा सके।

श्री मोदी ने अमेरिकी अखबार ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ में प्रकाशित एक लेख में कहा,

‘‘हम यह कैसे सुनिश्चित करेंगे कि आने वाली पीढ़ियां गांधी के आदर्शों याद रखेंगी।

मैं वैश्विक विचारकों, उद्यमियों और प्रौद्योगिकी क्षेत्र की हस्तियों को महात्मा गांधी के विचारों

और शिक्षाओं को नवाचार के जरिये फैलाने के लिए आमंत्रित करता हूं।’’

‘वाइ इंडिया एंड द वर्ल्ड नीड गांधी’ शीर्षक से प्रकाशित इस लेख में प्रधानमंत्री ने लिखा,

‘‘आइए हम सभी कंधे से कंधे मिलाकर अपने विश्व को समृद्ध बनायें तथा घृणा, हिंसा और पीड़ा से मुक्त करें।

इसके बाद ही हम महात्मा गांधी के पसंदीदा भजन ‘वैष्णव जन तो तेने कहिए’ के अनुसार

उनके सपनों को पूरा कर सकेंगे जिसका अर्थ है कि सच्चा इंसान वही है जो दूसरों का दुख समझता है,

दुखियों की मदद करता है और कभी अभिमान नहीं करता।’’

उन्होंने कहा कि गांधी जी दुनिया भर के लाखों लोगों को हिम्मत देते हैं।

उनकी प्रतिरोध की पद्धति ने कई अफ्रीकी देशों को आशा की किरण दिखायी।

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर बापू के संदेशों को अपने जीवन में आत्मसात करने के संबंध में चर्चा की।

उन्होंने कहा कि इंसान के मुकाबले उसके विचार ही अधिक शक्तिशाली होते हैं।

इस बात को खुद बापू ने साबित कर दिखाया है। इसलिए उनके नहीं होने के बाद भी उनके विचारों और

दर्शन की चर्चा अब तक होती आ रही है। दुनिया में असमानता दूर करने और लोगों को

अहिंसक तरीके से अपनी बात रखने के लिए बापू की सीख से बेहतर कुछ औऱ नहीं हो सकता है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

3 Comments

Leave a Reply

Open chat
Powered by