fbpx Press "Enter" to skip to content

पिछले तीन महीने से कल्याण योजना झारखंड में उपयोगी

  • राज्य के अनेक लाभुकों ने दी राय कि योजना जारी रहे

  • अनाज और जनधन खाते के पैसे से मदद मिली

  • इस पैकेज को नवंबर तक जारी रखा जाएगा

  • गैस सिलेंडर से रसोई में हुआ है फायदा

पसूका

रांचीः पिछले तीन महीने से जारी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना झारखंड के जरूरतमंद

तबके के लोगों के लिए काफी लाभदायक सिद्ध हुई है । अधिकतर लाभुक जिनसे पीआईबी

ने वार्ता की, लगभग सभी ने सरकार से आग्रह किया कि इसे आगे भी जारी रखा जाए। इस

अनुरोध को प्रधानमंत्री ने स्वीकार भी कर लिया है। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अभियान पैकेज को नवंबर तक जारी रखने का फैसला

लिया गया ताकि कोरोना महामारी के इस संक्रमण काल में देश के गरीब और कमजोर

कठिनाई से बच सके। झारखंड के लगभग सभी जरूरतमंद तबके जैसे बुजुर्गों, किसानों,

महिलाओं, दिव्यांगों एवं मजदूरों को केंद्र द्वारा दिये जा रहे प्रधानमंत्री गरीब कल्याण

अभियान पैकेज की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लगाताार मिल रहा। इस

राज्य में यानी झारखंड में पिछले तीन महीने की स्थिति का गंभीर आकलन करें करें तो 

झारखंड के गुमला जिला, नावाडीह काशी टोली गांव के चमरा उरांव को प्रधानमंत्री गरीब

कल्याण योजना के तहत अनाज मिला है। उपराजधानी दुमका के मोची पारा शिव पहाड़

रोड की श्रीमती बबीता देवी को जनधन खाते में ₹500 प्रतिमाह आए I साथ ही उन्हें

उज्जवला योजना के अंतर्गत गैस सिलेंडर रिफिल के लिए राशि मिली और अन्न योजना

के तहत राशन प्राप्त हुआ।

कोयला के लिए प्रसिद्ध धनबाद जिला के गोविंदपुर प्रखंड, कठुआ टांड़(आमाघाटा) ग्राम की

सुमनी मुर्मू को भी गैस भराने के लिए राशि प्राप्त हुई है। साथ ही पीएम अन्न योजना के

तहत राशन 40 किलो मिला। लॉक डाउन शुरू होने के तुरंत बाद चालू किए गए इस

अभियान में सरकार ने पिछले 3 महीनों में 1.75 लाख करोड़ खर्च किए हैं।

पिछले तीन महीने में सरकार ने खर्च किये 1.75 लाख करोड़

इसके अंतर्गत करीब 20 करोड़ परिवारों की महिलाओं को उनके जनधन खातों में 31000

करोड़ रुपए सहायता हेतु उपलब्ध कराए गए हैं। 9 करोड़ किसानों के खातों में 18000

करोड़ रुपए ट्रांसफर किया गया। सीमावर्ती राज्य बिहार के गया जिला, नैनोक के मदन

चौधरी को गरीब कल्याण पैकेज के तहत 40 किलो चावल, साथ ही दाल और तेल भी

मिला है। यहीं के मानपुर ग्राम के हिरदेव महतो को लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री गरीब

कल्याण पैकेज से काफी लाभ मिला। वह बताते हैं कि उन्हें हर माह गल्ला मिल रहा है।

इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया है। गुमला के लवांगे गांव की अलीम

उराव बताती हैं कि उन्हें इस अभियान के तहत 80 किलो अनाज मिला है, जिसके लिए वे

सरकार से खुश हैं। धनबाद के ही गठूआ टांड़ (आमा घाटा) ग्राम की लुक्खी सोरेन को

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गैस भराने के लिए राशि प्राप्त हुई है। केंद्र सरकार ने

पीएम अन्न योजना के अंतर्गत 1.49 लाख करोड़ की लागत से 81 करोड़ लोगों को 8

महीने तक राशन उपलब्ध कराया जा रहा है, ऐसा आजादी के बाद पहली बार देश में हो

रहा है। सरकार ने उज्जवला योजना के अंतर्गत दिए जा रहे हैं हर महीने गैस सिलेंडर की

राशि को भी अगले 3 महीने तक करीब साढे सात करोड़ महिलाओं के खाते में देने का

निर्णय लिया है जिसके लिए सरकार को करीब 13,500 करोड़ रुपए और खर्च करने पड़ेंगे।

झारखंड के दुमका, गांधीनगर की रीना देवी को जनधन खाते में प्रति माह 500 रुपये

मिले। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत राशि मिली। साथ ही अन्न योजना के तहत 8

किलो चावल, 5 किलो गेहूं मिला।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राज काजMore posts in राज काज »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!