Press "Enter" to skip to content

चुनाव के बाद जारी हिंसा में तृणमूल नेता की धारदार हथियार से हत्या

अलीपुरदुआरः चुनाव के बाद जारी हिंसा के क्रम में कल यहां के सोनापुर इलाका में

तृणमूल नेता दीपक राय की हत्या कर दी गयी। मिली जानकारी के मुताबिक वह एक

शादी समारोह में शामिल होने के बाद गाड़ी से अपने घर लौट रहे थे। 38 वर्षीय इस नेता के

साथ दो तीन और लोग भी थे। रास्ते में अपराधियों ने उनकी गाड़ी रोककर उनपर हमला

किया। धारदार हथियार से उनपर हमला किया गया। उनके साथ मौजूद लोग किसी तरह

भाग निकले। खबर पाकर आस पास के तृणमूल समर्थक जब वहां पहुंचे तो उन्होंने दीपक

को रास्ते पर पड़ा हुआ पाया। वहां से किसी तरह बाबूरहाट स्वास्थ्य केंद्र ले जाने के बाद

वहां के चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस बीच वहां सोनापुर पुलिस भी पहुंची

थी। पुलिस ने उनकी गाड़ी को अपने कब्जे में ले लिया है। टीएमसी के लोगों का आरोप है

कि भाजपा के समर्थक अपराधियों ने ही उनकी हत्या की है। टीएमसी के जिला अध्यक्ष

मृदुल गोस्वामी ने अपराधियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है।

इधर मालदा से खबर मिली है कि चुनाव के बाद वहां के एक टीएमसी समर्थक के घर पर

भाजपा के लोगों ने हमला बोला। इस घटना से इलाके में तनाव फैल गया है। सूचना पाकर

इंगरेज बाजार की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस के पहुंच जाने से टकराव टाला जा

सका क्योंकि तब तक टीएमसी के समर्थक भी वहां एकत्रित हो चुके थे। जिसके घर पर

हमला हुआ था, उस व्यक्ति राजा राय का आरोप है कि चुनाव के वक्त उन्हें भाजपा की

तरफ से काम करने को कहा गया था। लेकिन वे तृणमूल का काम करते रहे। चुनाव

परिणामों की घोषणा होने के बाद से ही इलाके में भाजपा के अपराधी इस किस्म का हमला

कर रहे हैं।

चुनाव के बाद भाजपा का हमला और पुलिस मूकदर्शक

पुलिस की मौजूदगी में जान से मारने की धमकी भी दी गयी है। दूसरी तरफ स्थानीय

भाजपा नेताओं ने इस आरोप को पूरी तरह खारिज कर दिया है। कूचबिहार के तूफानगंज

के लोहार गाड़ी इलाके में तृणमूल नेता के घर पर भी हमला हुआ है। मंगलवार की सुबह

भाजपा महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं ने लाठी डंडा लेकर टीएमसी नेता स्वपन सरकार के

घर पर हमला बोला और काफी तोड़ फोड़ की। स्वपन की पत्नी ने बताया कि उनके अलावा

कुछ अन्य घरों में भी तोड़फोड़ की गयी है। सूचना पाकर तूफानगंज पुलिस घटनास्थल पर

पहुंची थी। दूसरी तरफ भाजपा का आरोप है कि परिणामों की घोषणा होने के बाद से ही

भाजपा के कई सौ समर्थकों को घर टीएमसी के अपराधियों ने तोड़ दिया है। महिला मोर्चा

के सदस्यों के हमले के बारे में भाजपा की तरफ से सफाई दी गयी है कि लगातार अत्याचार

को सहन नहीं करते हुए महिलाएं बाहर निकल आयी थी। ऐसी बात वहां की भाजपा

विधायक मालती राभा राय ने कही है। दूसरी तरफ तृणमूल के महामंत्री अब्दुल जलील

अहमद का आरोप है कि चुनचुन कर टीएमसी के समर्थकों पर हमला किया जा रहा है और

पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है। जिला के पुलिस अधीक्षक देवाशीष धर ने कहा कि सभी

इलाकों की सूचना मिलने के बाद उन इलाकों में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गयी

है। अभी हालत नियंत्रण में है।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from चुनाव 2021More posts in चुनाव 2021 »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

One Comment

... ... ...
error: Content is protected !!