सुशील का आरोप, बेनामी संपत्ति को लालू ने बालू माफिया को बेचा

0 764

पटना : बिहार के उप मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी ने आज राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर बालू माफिया के साथ आर्थिक मिलीभगत कर संरक्षण देने का नया खुलासा करते हुए कहा कि श्री यादव की बेनामी संपत्ति अवैध बालू खनन माफिया खरीद रहे हैं तथा राजद की रैली की फंडिंग भी बालू माफिया ही कर रहे हैं ।

श्री मोदी ने यहां पार्टी के प्रदेश कार्यालय में श्री यादव और उनके परिवार का बालू माफिया सुभाष प्रसाद यादव के साथ किस तरह से आर्थिक संबंध और मिलीभगत है , इसका दस्तावेजी प्रमाण उपलब्ध कराते हुए संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बालू माफिया सुभाष की कंपनी ब्रोडसोन कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड को पटना, भोजपुर और सारण जिले में बालू खनन का पट्टा मिला हुआ है जिसकी वर्ष 2017 के लिए बंदोबस्ती राशि कुल 166 करोड़ रुपये है ।

इन पट्टों में भोजपुर की बंदोबस्ती राशि 102.99 करोड़ ,पटना की 59 करोड़ 26 लाख तथा सारण जिले का तीन करोड़ 78 लाख रुपये है । उप मुख्यमंत्री ने कहा कि बालू माफिया सुभाष की दूसरी कंपनी वंशीधर कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड को वैशाली एवं जहानाबाद जिले का बालू खनन का पट्टा मिला हुआ है जिसका वर्ष 2017 की बंदोबस्ती राशि 21 करोड़ 50 लाख रुपये है।

इसी तरह सुभाष की एक और कंपनी मोर मुकुट प्राइवेट लिमिटेड को अरवल जिले का बालू खनन का पट्टा मिला है जिसकी बंदोबस्ती राशि वर्ष 2017 में 12 करोड़ नौ लाख रुपये है। श्री मोदी ने कहा कि इसी तरह ब्रोडसोन , वंशीधर और मोर मुकुट इन तीनों कंपनियों को राज्य के छह सबसे महत्वपूर्ण जिले पटना, भोजपुर, सारण, वैशाली, जहानाबाद तथा अरवल में कुल 237 करोड़ रुपये के बालू खनन का पट्टा मिला हुआ है। इन तीनों कंपनियों के निदेशक सह कर्ताधर्ता सुभाष प्रसाद यादव जो पटना के दानापुर के रहने वाले हैं। उन्होंने कहा कि बालू माफिया सुभाष का राजद अध्यक्ष के साथ ही उनके परिवार से निकट का संबंध है तथा वह राजद की पूर्व में हुयी सभी रैलियों के अलावा 27 अगस्त की प्रस्तावित रैली के लिए आर्थिक मदद कर रहे हैं ।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि राजद अध्यक्ष और उनकी पार्टी के राज्यसभा सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रेम गुप्ता का इन सभी कंपनियों को संरक्षण प्राप्त है। ब्रोडसोन के निदेशक सुभाष ने 13 जून 2017 को पटना के मां मरछिया देवी कॉम्पलेक्स में 1271 वर्ग फुट के फ्लैट के लिए 52 लाख 76 हजार रुपये का भुगतान राजद अध्यक्ष की पत्नी श्रीमती राबड़ी देवी को किया। कॉम्पलेक्स श्रीमती राबड़ी देवी के नाम पर है। उन्होंने कहा कि उसी तरह वंशीधर कंपनी के निदेशक सुभाष ने इसी कॉम्पलेक्स में 14 सौ वर्ग फुट का फ्लैट 13 जून 2017 को ही 58 लाख रुपये में भुगतान कर खरीदा था ।

श्री मोदी ने कहा कि इसी तरह बालू माफिया सुभाष ने इसी कॉम्पलेक्स में अपनी पत्नी ललिता देवी की कंपनी राधा रमन कंस्ट्रक्शन एंड मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड के नाम से 61 लाख 82 हजार का भुगतान कर तीसरा फ्लैट खरीदा। यह सभी भुगतान श्रीमती राबड़ी देवी को किया गया। उन्होंने कहा कि इसी तरह से इस कॉम्पलेक्स के 18 फ्लैट की मालकिन श्रीमती राबड़ी देवी की मां मरछिया देवी के नाम पर बना अपार्टमेंट में तीन फ्लैट बालू माफिया सुभाष ने अलग-अलग बालू कंपनियों के माध्यम से एक करोड़ 72 लाख देकर खरीदा था ।

उप मुख्यमंत्री ने सवालिया लहजे में कहा कि क्या कारण है कि बालू माफिया ने ही एक ही दिन 13 जून 2017 को एक नहीं बल्कि तीन फ्लैट एक साथ राजद अध्यक्ष के परिवार से खरीद लिया। जब लगातार बेनामी संपत्ति का खुलासा किया जा रहा था तो उस दौरान एक करोड़ 72 लाख की संपत्ति खरीदने की किसी ने हिम्मत कैसे की । उन्होंने कहा कि श्रीमती राबड़ी देवी के फ्लैट किसी और ने नहीं बल्कि बालू माफिया ने ही खरीदा जो अपने आप में सवाल खड़ा करता है। उन्होंने सवाल खड़ा करते हुए कहा कि क्या आयकर विभाग के संपत्ति जब्त किये जाने के डर से बालू माफिया द्वारा खरीदा हुआ दिखाया गया।

श्री मोदी ने कहा कि राजद अध्यक्ष की मदद के एवज में कौड़ी के भाव पटना में लिखायी जमीन पर भवन निर्माणकर्ता से अनुबंध कर मुफ्त में 18 फ्लैट की मालकिन बगैर कुछ पूंजी लगाये बालू माफिया के संरक्षण के कारण श्रीमती राबड़ी देवी करोड़ों रुपये की मालकिन बन गयी है । इस संबंध में वह आयकर विभाग और कंपनी रजिस्ट्रार से इसकी जांच कराने की मांग करेंगे तथा जो राज्य सरकार के दायरे में आता है उसकी भी जांच होगी।

उप मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि महागठबंधन की सरकार में राजद कोटे से ही खनन मंत्री थे जिसे राजद अध्यक्ष ने दबाव देकर बनवाया था। बालू माफियाओं के खिलाफ चलाये गये अभियान के तहत पुलिस ने सुभाष के पोकलेन, ट्रक और ट्रैक्टर जब्त कर कई लोगों को गिरफ्तार किया है। उन्होंने कहा कि श्रीमती राबड़ी देवी और उनके पूर्व उप मुख्यमंत्री पुत्र तेजस्वी प्रसाद यादव को बालू माफिया से साठगांठ के संबंध में जवाब देना चाहिए।

You might also like More from author

Comments

Loading...