सोमवार को सीबीआइ ले सकती है सृजन घोटाला के जांच की जिम्मेदारी

तब तक अभियुक्तों की तलाश और पुलिस की जांच जारी रहेगी

Spread the love

दीपक नौरंगी
भागलपुर : सृजन घोटाले को सीबीआई ने अपने जिम्मे ले लिया है। सोमवार तक सीबीआई की एक टीम भागलपुर इस पूरे मामले में जांच करने के लिए पहुंचने की संभावना है। इससे पहले जिला पुलिस के कप्तान मनोज कुमार और आर्थिक अपराध के आईजी जेएस गंगवार पूरे मामले पर अपनी कार्रवाई करते रहेंगे। सीबीआई टीम के आने के बाद अपने स्तर से पूरे मामले की जांच करेगी घोटाले में शामिल विपिन शर्मा की पत्नी पर भी प्राथमिकी दर्ज हो गई है। मुख्यमंत्र के आदेश के बाद अब सीबीआइ लेगी सृजन घोटाला के जांच की जिम्मेदारी।

  • खास बातें

    एक आईपीएस अधिकारी से होगी पूछताछ
    मामले में अब तक दस महिलाओं पर केस दर्ज

भागलपुर का सृजन घोटाला पुलिस के मिले अहम दस्तावेज

इस पूरे घोटाले में सचिव रजनी प्रिया और उसके पति अमित कुमार और विपिन शर्मा के खिलाफ और कई अहम दस्तावेज पुलिस के हाथ लगे हैं। एक नई चर्चा सामने आई है घोटाले को लेकर के भागलपुर में रह चुका एक आईपीएस अधिकारी से भी पूछताछ की तैयारी की जा सकती है। पुलिस मुख्यालय से लेकर भागलपुर के पुलिस अधिकारियों के बीच इस बात की चर्चा है कि भागलपुर में रहे एक आईपीएस अधिकारी जो अभी आई जी है उनसे इस मामले में पूछताछ की जा सकती है। क्योंकि घोटाले उक्त आईपीएस अधिकारी के संस्था के काफी मधुर संबंध थे। इस मामले में अभी कोई अधिकारी पुष्टि नहीं की गई है। अब सीबीआइ लेगी सृजन घोटाला के जांच की जिम्मेदारी लेने के बाद शेष का पता चल पायेगा।

मनोरमा देवी की मौत के बाद विपिन का बोलबाला था

घोटाले को लेकर कई भाजपा के बड़े नेता पुलिस की हर जांच पर अपनी नजर जमाए हुए हैं। क्योंकि रजनी प्रिया और अमित कुमार’ विपिन शर्मा के तालुकात भाजपा के कद्दावर नेता से काफी नजदीकी है। मनोरमा देवी की मृत्यु के बाद संस्था पर विपिन शर्मा का बोलबाला हो गया था तथा घोटाले में विपिन शर्मा का महत्वपूर्ण रोल है। 17 अगस्त को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घोटाले की जांच सीबीआई से कराने के निर्देश अधिकारियों को दे दिया था। माना जा रहा है कि दो हजार करोड़ से भी अधिक घोटाले की राशि जा सकती है।

सबौर थाना में भी प्राथमिकी दर्ज

1500 करोड़ के सृजन घोटाले में सबौर प्रखंड सहकारिता प्रसार पदाधिकारी सुशील कुमार ने सृजन महिला विकास सहयोग समिति लिमिटेड के सभी पदधारकों के खिलाफ सबौर थाने में क्रिमिनल केस दर्ज कराया है। आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी, फजीर्वाड़ा समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। इन पर सबौर थाना कांड संख्या 241/17, दिनांक 23/08/17 धारा 409/420/467/468/471/120(बी)/34 आईपीसी दर्ज की गई है। सदर इंस्पेक्टर मो. इमामुल्लाह को केस का इन्वेस्टिगेशन अफसर बनाया गया है।

इनपर दर्ज हुआ है मामला

1. शुभलक्ष्मी प्रसाद, पति – डॉ. विनोदानंद प्रसाद (अध्यक्ष)
2. रजनी प्रिया, पति – अमित कुमार (सचिव)
3. सीमा देवी, पति – प्रणय कुमार
4. जसीमा खातून, पति – मो. शकील अहमद
5. राज रानी वर्मा, पति – समर समरेन्द्र
6. अर्पणा वर्मा, पति – अभिषेक कुमार
7. रूबी कुमारी, पति – विपिन वर्मा
8. रानी देवी, पति – रवि पासवान
9. सुनीता देवी, पति – बबलू हरिजन
10. सुना देवी, पति – जगदीश तांती
समिति की सभी 10 पदधारकों पर आरोप है कि उन्होंने निबंधक सहयोग समितियां, बिहार के मानदंडों का उल्लघंन कर सरकारी राशि का फजीर्वाड़ा किया।

इन्हें भी पढ़ें

सृजन घोटाले में अब महेश मंडल की तरह विपिन शर्मा पर भी बड़ा खतरा

http://rashtriyakhabar.com/national-news/अब-विपिन-शर्मा-की-जान-भी-खत/56430/

वहां होती है हीरों की बारिश, बर्फ के नीचे हैं हीरों के बड़े बड़े चट्टान भी

वहां होती है हीरों की बारिश, बर्फ के नीचे हैं हीरों के बड़े बड़े चट्टान भी

You might also like More from author

Comments are closed.

Optimization WordPress Plugins & Solutions by W3 EDGE