fbpx Press "Enter" to skip to content

नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस से बिहार भेजा जा रहा कारतूस की खेप बरामद

  • जीआरपीएफ ने किया जब्त

  • लावारिश बैग से मिले कारतूस

  • कुछ दस्तावेज भी बरामद किये गये

  • भारत में चीनी का हथियारों की आपूर्ति तेज

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी: नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस से राजकीय रेलवे पुलिस बल (जीआरपीएफ) ने असम के

शहर बोंगाईगांव जिले में 1,000 से अधिक जिंदा कारतूस बरामद किया। न्यू बोंगईगांव

जीआरपीएफ के सब-इंस्पेक्टर बिस्वजीत रवा के मुताबिक, बरामद गोलियों में से पांच सौ

8 मिमी और पांच सौ 3।2 मिमी की गोलियां हैं। पुलिस ने बताया कि जब नार्थ ईस्ट

एक्सप्रेस ट्रेन न्यू बोंगईगांव रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 1 पर पहुंची, तो उन्हें वहां एक

लावारिस बैग था। उस वक्त हमारे दो हवलदार रूटीन चेक के लिए गए थें, संदिग्ध बैग को

देखने के बाद जवानों ने बैग की तलाशी ली तो वहां उन्हें कुछ फोटो कॉपी डॉक्यूमेंट्स के

साथ 1000 कारतूस मिले। उन्होंने बताया कि दस्तावेजों के मुताबिक, गोलियों को

नागालैंड के दीमापुर से बिहार के बक्सर जिले में ले जाया जा रहा था। दूसरी ओर, भारतीय

सेना के खुफिया सूत्र ने कहा कि भारत और दक्षिण एशिया में अवैध हथियार बाजारों में ‘

मेड इन चाइना ‘ हथियारों की भरमार है, जिनमें से कई चीन निर्मित हथियार हैं।

नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस में बरामद चीनी हथियार हैं

हथियार विरोधियों का कहना है कि राइफल और मशीनगन खरीदने वाले भारत के विद्रोही

संगठन एक अनौपचारिक अनुबंध के तहत बनाए जाते हैं। इसकी व्यवस्था असम और

पूर्वोत्तर विद्रोही संगठन उल्फा और एनएससीएन ने चीनी हथियारों की फैक्ट्रियों के साथ

की है। छोटे हथियारों के प्रसार के खिलाफ काम करने वाले भारतीय सेना के खुफिया सूत्र

ने कहा, ये चीनी फैक्ट्रियां अपने मुनाफे के लिए उत्सुक हैं, उन्हें इस बात की चिंता नहीं है

कि ये हथियार कौन पहुंच रहे हैं । उन्होंने कहा, अब वे हथियारों और उन्हें बनाने की

तकनीक आउटसोर्स कर रहे हैं । उल्फा और एनएससीएन ने चीनी कारखानों को डिजाइन

और तकनीकी सहायता के लिए भारी मात्रा में धन का भुगतान किया है । खुफिया सूत्र ने

कहा, तब से अब उन्होंने एक अनौपचारिक अनुबंध के तहत ये हथियार बनाना शुरू कर

दिया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from असमMore posts in असम »
More from आतंकवादMore posts in आतंकवाद »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from चीनMore posts in चीन »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

One Comment

... ... ...
%d bloggers like this: