fbpx Press "Enter" to skip to content

लॉक डाउन और कर्फ्यू में पुलिस अफसरों की शराब पार्टी

  • उत्तर पूर्व में कोरोना वायरस बढ़ा असम में 25 को मौतें

  • सोशल मीडिया में हुआ पार्टी का फोटो वायरल

  • मुख्यमंत्री ने दिए कार्रवाई के निर्देश

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : लॉक डाउन और कर्फ्यू के बीच पुलिस अफसरों की शराब पार्टी पर जबर्दस्त

प्रतिक्रिया आयी है। पूर्वोत्तर में कोरोना दिनोंदिन भयानक रुख अख्तियार करता जा रहा

है. इसके बीच ही अफसरों की यह पार्टी अब जांच के दायरे में आ चुकी है। राज्य में कल

रात से अब तक कम से कम छह और कोविद -19 रोगियों की मृत्यु हो गई, कोरोना

संक्रमण से अब तक राज्य में मृत्यु का कुल संख्या 25 हो गई । आज राज्य में कुल 696

सकारात्मक मामलों का पता चला है, जिनमें से 423 गुवाहाटी के थे। केवल गुवाहाटी शहर

ने 8 जुलाई को 423 कोविड-19 मामले दर्ज किए, जबकि पूरे असम में 696 नए मामले

सामने आए।

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि असम में कुल पुष्टि किए गए

मामलों की संख्या 14032 हो गई है।

लॉक डाउन और कर्फ्यू के बीच नाव पर चले जाम पर जाम

इस बीच, कोरोना वायरस को रोकने के लिए जब गुवाहाटी में दिन में लॉक डाउन और रात

को कर्फ्यू चल रहा था,उसी समय कानून और व्यवस्था की स्थिति देखने वाले पुलिस ने

तोड़ने की बात सामने आई है ।गुवाहाटी में असम पुलिस के अधिकारी लॉक डाउन में लगे

कर्फ्यू का उल्लंघन करते हुए रात्रि को एक शराब पार्टी आयोजित करके फंस गए। अब इन

अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की तलवार लटक रही है। देर रात्रि को ब्रह्मपुत्र में एक शिप

पर आयोजित हुई इस पार्टी का खुलासा होने के बाद पुलिस विभाग की भारी बदनामी हो

रही है।

इस पार्टी में महिलाएं भी शामिल थी। लॉक डाउन के नियमों को आम लोगों से पालन

कराने वाले पुलिस अफसर खुद ही लॉक डाउन के कारण रात में लगे कर्फ्यू का उल्लंघन

करते हुए मदिरा पार्टी कर रहे हैं। राज्य के मुख्य सचिव ने इस मामले में पुलिस कमिश्नर

को जांच कर दोषी अधिकारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

दरअसल पुलिस अफसरों के ब्रह्मपुत्र में एक शिप पर कॉकटेल नाइट पार्टी को लेकर

सोशल मीडिया पर एक वीडियो के वायरल होने के बाद सरकार हरकत में आई। इस

वीडियो में दिखाया गया है कि पुलिस अधिकारी जाम उड़ा रहे हैं। वीडियो में पार्टी में

महिलाएं भी दिखाई दे रही हैं। इन्हें पुलिस विभाग की बताया जा रहा है। अन्य महिलाएं

पुलिस अधिकारियों के परिवार की बताई जा रही हैं। इस वीडियो के वायरल होते ही

प्रशासनिक तंत्र में खलबली मच गई।

मुख्यमंत्री के कड़े तेवर के बाद विभागीय कार्रवाई शुरू

मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के निर्देश के अनुसार, गृह विभाग ने कई पुलिस अधिकारियों

के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की है, जिन्होंने ब्रह्मपुत्र पर एक नदी की रात में

पार्टी में भाग लिया और शहर में तालाबंदी और कर्फ्यू के नियमों का उल्लंघन किया। इस

प्रकरण की जानकारी मिलने के बाद मुख्य सचिव कुमार संजय कृष्णा ने पुलिस कमिश्नर

को मामले की जांच करने के निर्देश दिए। मुख्य सचिव ने कहा कि जांच के दोषियों के

खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। मुख्य सचिव के लिखित निर्देशों में कहा गया है कि

इस तरह की शराब पार्टी से पुलिस की छवि पर प्रतिकूल असर पड़ा है। यह आयोजन

आपदा अधिनियम का उल्लंघन है। सरकार के आदेशों का पालन कराना पुलिस की

जिम्मेदारी है। इसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जानी

चाहिए। इस निर्देश का पालन किया जा रहा है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from असमMore posts in असम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!