fbpx Press "Enter" to skip to content

तबलीगी जमात के 18 लोगों पर पुलिस ने किया एफआइआर

  • वीजा नियमों का उल्लंघन कर संक्रमण भी फैलाया

  • मलेशिया की महिला से पकड़ में आया संक्रमण

  • अन्य इलाकों में भी छिपे हुए थे अनेक विदेशी

संवाददाता

रांचीः  तबलीगी जमात के 18 लोगों के खिलाफ कोरोना संकट के दौरान पुलिस ने

एफआइआर दर्ज किया है। इनलोगों के खिलाफ वीजा के नियमों का उल्लंघन कर धर्म

प्रचार करने का गंभीर आरोप है। साथ ही कोरोना संक्रमण के दौरान खुद से अपनी जांच

नहीं कराने की वजह से भी उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है। आरोप है कि

इनलोगों की वजह से दूसरे लोगों तक कोरोना का संक्रमण फैला है। रांची का हिंदपीढ़ी

इलाका इस संक्रमण की चपेट में है। इसी वजह से यह प्राथमिकी भी उनलोगों के खिलाफ

दर्ज हुई है, जो हिंदपीढ़ी के इलाके में ही रह रहे थे। इनमें वह मलेशिया की महिला भी है,

जिसमें सबसे पहले कोरोना का संक्रमण पाया गया था। मलेशिया की इस महिला के संपर्क

में आने की वजह से एक अन्य महिला भी संक्रमित हुई है। इस इलाके में संक्रमण के दायरे

में और भी लोग आये हैं अथवा नही उसकी जांच चल रही है। एहतियात के तौर पर दिल्ली

के निजामुद्दीन मरकज से लौटने वालों को भी अलग थलग किया गया है। मिली जानकारी

के मुताबिक हिंदपीढ़ी थाना में इन सभी लोगों के खिलाफ धारा 188, 269, 270, 271 के

तहत कांड संख्या 34 दर्ज किया गया है। भारतीय दंड विधान के अतिरिक्त इनलोगों के

खिलाफ 13-14 वीसी, फॉरेन इन्फेक्शन एक्ट और नेशनल डिसास्टर एक्ट की धाराएं भी

लगायी गयी हैं।

तबलीगी जमात के लोगों ने वीजा के नियमों का उल्लंघन भी किया

मलेशिया सहित अन्य देशों से पर्यटक वीजा लेकर भारत आने के बाद उनके धर्म प्रचार में

भाग लेना भी वीजा के नियमों का उल्लंघन है। इसलिए सभी के वीसा भी रद्द कर दिये गये

हैं। राष्ट्रीय स्तर पर वीजा के दुरुपयोग करने वाले सभी विदेशियों को स्थायी तौर पर

काली सूची में डालने का फैसला पहले ही लिया जा चुका था। उल्लेखनीय है कि इनमें से

कुछ विदेशी रांची-जमशेदपुर मार्ग पर एक मसजिद से तथा कई अन्य अलग अलग

इलाकों में भी पाये गये हैं। इन सभी ने खुद से अपनी पहचान बताते हुए जांच कराने में

कोताही बरती थी।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat