Press "Enter" to skip to content

पुलिस विभाग में अनेक तबादले और केंद्रीय प्रतिनियुक्ति


राष्ट्रीय खबर के सारे आकलन बिल्कुल सही साबित

केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने की चर्चा पहले से

एक अधिकारी पहले से ही नाराज चल रहे थे

कहलगांव की महिला डीएसपी हटायी गयी

दीपक नौरंगी

भागलपुरः पुलिस विभाग में अनेक केंद्रीय प्रतिनियुक्ति और तबादलों के बारे में जो संभावना

राष्ट्रीय खबर ने व्यक्त की थी, वह सही साबित हुई है। जिनलोगों ने केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर

जाने का आवेदन दिया था, उन्हें विरमित करने का आदेश जारी करने के साथ ही जीतेंद्र सिंह

गंगवार को एडीजी हेडक्वार्टर बनाया गया है। यह खबर कई माह पूर्व ही प्रकाशित की जा चुकी

है। पूर्व एडीजी जीतेंद्र कुमार का तबादला होगा, यह बात चर्चा में थी। वैसे जीतेंद्र सिंह गंगवार

के बारे में भी जातिगत समीकरण फिट होने की चर्चा पुलिस मुख्यालय में पहले से ही थी।

व्यापक स्तर पर जो तबादले किये गये हैं, उनमें कुछ की चर्चा प्रासंगिक है। वैसे बिहार में

बिहार पुलिस सेवा के 172 डीएसपी स्तर के अधिकारियों का भी तबादला किया गया है।

मुख्यालय स्तर से 6 सीनियर पुलिस अधिकारी और फील्डस्तर से 16 आईपीएस अफसर इस

तबादले की सूची में शामिल है। पुलिस मुख्यालय के सीनियर अधिकारियों का तबादला किया

गया है आलोक राज ट्रेनिंग के डीजी है उनको अतिरिक्त प्रभार बीएमपी का दिया गया है

क्योंकि बीएमपी के डीजी राजविंदर सिंह भट्टी को केंद्रीय प्रतिनियुक्ति के लिए रिलीव कर

दिया गया है। विधि व्यवस्था के एडीजी अमित कुमार को भी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति के लिए

रिलीव कर दिया गया है। अमित कुमार सीआरपीएफ में 5 सालों के लिए केंद्रीय प्रतिनियुक्ति

चले गए हैं। अमित कुमार की स्थान पर एडीजी सीआईडी विनय कुमार को विधि व्यवस्था का

एडीजी बना दिया गया है। विनय कुमार को अतिरिक्त प्रभार प्रोविजनिंग का भी दिया गया है।

पुलिस विभाग में अंदर ही अंदर कई चर्चाओं का दौर

पुलिस विभाग के सूत्र बताते हैं कि हाईकोर्ट ने मुंगेर के दुर्गा विसर्जन के मामले में निर्देश दिया

था कि जब तक इस मामले का अनुसंधान पूरा नहीं हो जाता है जब तक किसी भी

अधिकारियों का तबादला नहीं होगा। विनय कुमार को डीजी में प्रमोशन मिलना है कुछ

कानूनी प्रक्रिया बाकी है उनके बाद उनका डीजी में प्रमोशन हो जाएगा लेकिन सूत्र बताते हैं कि

मुंगेर के दुर्गा विसर्जन की जांच कर रहे एडीजी सीआईडी विनय कुमार की जांच से सरकार

कहीं न कहीं संतुष्ट नजर नहीं आ रही थी, इसीलिए उनको सीआईडी से उनका तबादला विधि

व्यवस्था एडीजी में कर दिया गया है। एडीजी विशेष शाखा जितेंद्र सिंह गंगवार को एडीजी

मुख्यालय बनाया गया है एडीजी विशेष निगरानी इकाई सुनील कुमार को एडीजी विशेष शाखा

बनाया गया है। एडीजी मुख्यालय जितेंद्र कुमार जो एक महीने से भी अधिक की लंबी छुट्टी पर

चले गए थे फिर छुट्टी के लिए आवेदन दिया था लेकिन पुलिस सूत्र बताते हैं कि सरकार ने छुट्टी

के आवेदन को नामंजूर कर दिया है एडीजी रिपोर्टर जितेंद्र कुमार का तबादला सीआईडी

एडीजी के पद पर कर दिया गया है उनको अतिरिक्त प्रभार भवन निर्माण निगम का भी दिया

गया है आर्थिक अपराध इकाई के एडीजी नैयर हसनैन खान आर्थिक अपराध इकाई के एडीजी

हैं उनको अतिरिक्त प्रभार विशेष निगरानी इकाई का दिया गया है।

पति को आईपीएस की वर्दी पहनाने वाली डीएसपी का सिर्फ तबादला

इस क्रम में कहलगांव की डीएसपी रिशु कृष्णा को भी वहां से हटाकर पुलिस विभाग की

उपाधीक्षक विशेष सशस्त्र महिला बल, सासाराम में कर दिया गया है। याद दिला दें कि इसी

महिला डीएसपी ने अपने पति को आईपीएस की वर्दी पहनाकर उसके साथ फोटो खिंचवाने की

गलती की थी। एक अधिकारी के तौर पर वह जानती थी कि यह गलत काम है। वैसे विभागीय

जानकार मान रहे थे कि इस किस्म की गलती के लिए संबंधित महिला अधिकारी को दंडित

किया जाना था लेकिन उनका सिर्फ तबादला ही किया गया है। इससे भी पूरी प्रक्रिया पर कई

सवाल खड़े हो गये हैं। नये सिरे से यह चर्चा जोर पकड़ चुकी है कि क्या पुलिस मुख्यालय का

कोई उच्चाधिकारी इस महिला अधिकारी की मदद कर रहा है ताकि वह कानूनी कार्रवाई से

बच सके।

उधर सीआईडी के एडीजी विनय कुमार के तबादले से यह स्पष्ट है कि शायद मुंगेर दुर्गा

विसर्जन गोली कांड पर उनकी जांच रिपोर्ट से राज्य सरकार खुश नहीं है। वैसे भी उन्हें

प्रोमोशन मिल जाना है। लेकिन हाईकोर्ट के निर्देश के बाद भी उनका तबादला किया जाना

मुंगेर गोली कांड की जांच पर फिर से नया सवाल खड़ा कर चुका है।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from राज काजMore posts in राज काज »

Be First to Comment

Mission News Theme by Compete Themes.