Press "Enter" to skip to content

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया गंगा एक्सप्रेस वे का शिलान्यास




यह काम यहां की महान विभूतियों को समर्पित है
गंगा एक्सप्रेस-वे रोजगार के नए अवसर पैदा करेगा
नारा लगवाया ‘यूपी प्लस योगी बहुत है उपयोगी’

शाहजहांपुर: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में 36 हजार 230 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से बनने वाले प्रदेश के सबसे लंबे ‘गंगा एक्सप्रेस वे’ की शनिवार को आधारशिला रखी। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद थे।




इस मौके पर आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि कल ही यहांकी मिट्टी में जन्मे रामप्रसाद बिस्मिल, अश्फाक उल्ला खान और रौशन सिंह का शहादत दिवस है। यह हमारे लिए ऐतिहासिक अवसर है जब हम गंगा एक्सप्रेस वे का काम शुरू हो रहा है। यह काम यहां की महान विभूतियों को समर्पित है।

मोदी ने कहा कि गंगा एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश में रोजगार के नए अवसर पैदा करेगा। साथ ही विकास को नयी दिशा और गति मिलेगी। वह दिन दूर नहीं जब यूपी की पहचान सबसे आधुनिक राज्य के रूप में होगी। विकास के ये काम राज्य के लिए वरदान साबित होंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व की सरकारों पर हमला करते हुए कहा कि पहले जनता के पैसे का कैसे इस्तेमाल होता था वह आप सबको याद है। पहले ऐसी परियोजनाए सिर्फ कागज पर शुरू होती थी ताकि पिछली सरकारों को चलाने वाले लोग अपनी तिजोरी भर सकें। अब यूपी में भेदभाव नहीं होता, सबका विकास होता है। गरीब कल्याण के लिए पहले चिंता नहीं होती थी। प्रदेश में विकास तीव्रता के साथ आगे बढ़ रहा है। यह राजमार्ग आने वाली पीढ़ियों के जीवन में भी व्यापक परिवर्तन का कारक बनेगा और विकास की इस प्रक्रिया में सबका सहभाग सुनिश्चित करेगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिना नाम लिये फिर अखिलेश को लपेटा

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का नाम लिए बिना मोदी ने कहा कि कुछ लोगों को देश की विरासत से और विकास दोनो से दिक्कत है। इन लोगों को काशी में विश्वनाथ धाम बनने और अयोध्या में राम मंदिर बनने से दिक्कत है। उन्होंने कहा कि अब माफिया पर बुलडोजर चलता है तो उनको पालने वालों को भी दर्द होता है।




मोदी ने यहां नारा भी लगवाया ‘यूपी प्लस योगी बहुत है उपयोगी’। गौरतलब है कि संगम नगरी प्रयागराज से मेरठ के बीच 594 किमी लंबा गंगा एक्सप्रेस वे न सिर्फ पूरब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश की दूरी को कम करेगा बल्कि कई राज्यों को भी उत्तर प्रदेश के करीब लायेगा। इसका फायदा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के अलावा हरियाणा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ समेत कई अन्य राज्यों को मिलेगा। पर्यावरण संरक्षण के लिए एक्सप्रेस वे के किनारे करीब 18,55,000 पौधे लगाए जाएंगे।

सौगात देने के लिए प्रधानमंत्री जी आभार : योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को शाहजहांपुर में 36 हजार 230 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले प्रदेश के सबसे लंबे ‘गंगा एक्सप्रेस वे’ की आधारशिला रख रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया है।

योगी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘आदरणीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी आज शाहजहांपुर में लगभग 36,230 करोड़ रुपये की लागत से बनने जा रहे 594 कि.मी. लंबे ‘गंगा एक्सप्रेस-वे’ का शिलान्यास करने जा रहे हैं।’’ आधिकारिक जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी 18 दिसंबर को दिन में लगभग एक बजे शाहजहांपुर जिले में गंगा एक्सप्रेस वे परियोजना का शिलान्यास करेंगे।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित केन्द्र और राज्य सरकार के मंत्री एवं वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘जिस प्रकार अविरल, अविचल बहतीं पतित पावनी माँ गंगा बिना किसी भेदभाव के सभी का उद्धार करती हैं, उसी प्रकार यह ‘गंगा एक्सप्रेस-वे’ समाज के सभी वर्गों की सामाजिक-आर्थिक प्रगति का आधार बनेगा। उत्तर प्रदेश को यह सौगात देने के लिए आपका बहुत-बहुत आभार प्रधानमंत्री ज्गंगा एक्सप्रेस वे पश्चिमी उप्र के मेरठ, हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा, सम्भल, बदायूं और शाहजहांपुर जिले से गुजर रहा है।



More from उत्तरप्रदेशMore posts in उत्तरप्रदेश »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »

2 Comments

  1. […] प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में  मंत्रिमंडल के निर्णय की जानकारी देते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने संवाददाताओं से कहा,‘‘ मंत्रिमंडल ने 973.74 करोड़ रुपये की अनुग्रह राशि के भुगतान को मंजूरी दे दी है जो एक मार्च, 2020 से 31 अगस्त, 2020 के दौरान निर्दिष्ट ऋण खातों में उधारकर्ताओं को छह महीने के लिए चक्रवृद्धि ब्याज और साधारण ब्याज के बीच अंतर के अनुग्रह रूप में भुगतान के लिए है।’’  उन्होंने बताया कि इस अनुग्रह भुगतान की योजना के तहत ऋणदाता संस्थानों (एलआई) द्वारा प्रस्तुत शेष दावों से संबंधित है। […]

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: