fbpx Press "Enter" to skip to content

प्रतिशत के आधार पर ऑस्ट्रेलिया शीर्ष पर भारत को दूसरा स्थान

दुबई : प्रतिशत के आधार पर आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की तालिका में फेरबदल

हो गया है और भारत ने अपना शीर्ष स्थान गंवा दिया है। भारतीय टीम के हालांकि सबसे

ज्यादा 360 अंक हैं लेकिन प्रतिशत के मामले में टीम इंडिया दूसरे स्थान पर खिसक गयी

है जबकि ऑस्ट्रेलिया ने पहला स्थान हासिल कर लिया है। भारत ने अब तक चार सीरीज

खेली हैं जबकि ऑस्ट्रेलिया ने तीन सीरीज खेली हैं। ऑस्ट्रेलिया 82.2 प्रतिशत के साथ

शीर्ष पर पहुंच गया। भारत का प्रतिशत 75.00 है। इंग्लैंड 60.83 प्रतिशत के साथ तीसरे,

न्यूजीलैंड 50.00 प्रतिशत के साथ चौथे और पाकिस्तान 39.52 प्रतिशत के साथ पांचवें

स्थान पर है। इस तालिका में शीर्ष दो टीमों के बीच विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल

खेला जाएगा। अंतराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने गुरुवार को घोषणा की थी कि

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के दो फाइनलिस्ट का फैसला अंकों के प्रतिशत के

आधार पर तय किया जाएगा जिसे अब आईसीसी बोर्ड ने अपनी मंजूरी दे दी है। आईसीसी

की सोमवार से शुरू हुई त्रैमासिक बैठक में अनिल कुंबले की अध्यक्षता वाली आईसीसी

क्रिकेट समिति ने इस नए नियम की सिफारिश की थी। आईसीसी के मुख्य कार्यकारी

(सीईओ) मनु साहनी ने कहा कि क्रिकेट कमेटी और मुख्य कार्यकारी समिति दोनों ने इस

नए सिस्टम को मंजूर कर दिया है। नई गणना में यानी अंकों के प्रतिशत के आधार पर

बनाई गई रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया 82.2 प्रतिशत के साथ शीर्ष पर पहुंच गया है जबकि भारत

75 प्रतिशत लेकर दूसरे स्थान पर आ गया है।

प्रतिशत के आधार से पहले भारत शीर्ष रैंकिंग पर था

इससे पहले भारत 360 अंक लेकर पहले स्थान पर और ऑस्ट्रेलिया 296 अंकों के साथ

दूसरे नंबर पर था। लेकिन नई गणना से दोनों टीमों की रैंकिंग में बदलाव आया है।

वैश्विक महामारी कोविड-19 की के कारण रद्द और स्थगित की गई कई टेस्ट सीरीज की

वजह से डब्ल्यूटीसी का कार्यक्रम प्रभावित हुआ है।अब तक डब्ल्यूटीसी के 50% से भी

कम मैच खेले गए हैं जबकि आईसीसी ने मार्च के अंत तक 85 प्रतिशत से अधिक मैच पूरे

कर लेने की उम्मीद की थी। इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए आईसीसी डब्ल्यूटीसी के

फाइनलिस्ट तय करने के लिए नयी योजना को अमल में लाने का विचार कर रहा था

जिसके तहत विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के दो फाइनलिस्ट का फैसला अंकों के % के

आधार पर तय किया जाएगा। नियमों के अनुसार हर टेस्ट सीरीज में कुल 120 अंक होते

हैं। सीरीज में कुल मैचों की संख्या के आधार पर अंक बांटे जाते हैं। अंकों का यह %

निकालने के लिए कुल अंकों को प्राप्त अंकों से भाग किया जाता है। जैसे अगर किसी टीम

ने कुल चार सीरीज खेली और दो सीरीज में क्लीन स्वीप किया, तो उसे कुल 480 में से 240

अंक प्राप्त हुए और उसके अंकों का प्रतिशत 50 फीसदी हुआ। गौरतलब है कि भारत को

अब ऑस्ट्रेलिया में चार टेस्ट और इंग्लैंड से पांच टेस्ट मैचों की घरेलू सीरीज खेलनी है।

इंग्लैंड भी श्रीलंका के खिलाफ अपनी स्थगित सीरीज का कार्यक्रम बनाने का प्रयास कर

रहा है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from आस्ट्रेलियाMore posts in आस्ट्रेलिया »
More from क्रिकेटMore posts in क्रिकेट »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from विश्वMore posts in विश्व »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: