fbpx Press "Enter" to skip to content

विस चुनाव के बाद कीमत बढ़ने की भविष्यवाणी सही साबित हुई-रामेश्वर उरांव

रांचीः विस चुनाव के बाद केंद्र सरकार फिर से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ायेगी, यह तो

चुनाव के पहले ही बता दिया गया है। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सह राज्य

के वित्तमंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा है कि पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के पहले ही

उनकी ओर से यह भविष्यवाणी की गयी थी कि चुनाव शुरु होने के बाद पेट्रोल-डीजल और

रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोत्तरी नहीं होगी और चुनाव समाप्त होते ही एक बार फिर

लोगों को महंगाई की मार झेलनी पड़ेगी। यह भविष्यवाणी आज सही साबित हो रही है।

प्रदेश अध्यक्ष आज रांची स्थित अपने आवासीय कार्यालय में पत्रकारों से अनौपचारिक

बातचीत कर रहे थे। इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ केशव महतो

कमलेश, प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव,डा राजेश गुप्ता

छोटू,अमूल्य नीरज खलखो उपस्थित थे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा

कि 27 फरवरी के बाद से मतदान प्रक्रिया शुरू होने के बाद से चुनाव परिणाम आने तक

पेट्रोल-डीजल की कीमत में कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई, लेकिन चुनाव परिणाम आने के बाद

केंद्र की भाजपा नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार ने देश की जनता को एक बार फिर महंगाई

का तोहफा दिया है। अब प्रतिदिन 20 से 30 पैसे प्रतिदिन की हिसाब से पेट्रोल-डीजल की

कीमत में बढ़ोत्तरी हो रही है। पेट्रोल-डीजल की कीमत में बढ़ोत्तरी से तेल, दाल और

अन्य आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में भी बेतहाशा बढ़ोत्तरी हो रही है। सरसो तेल 180

रुपये प्रति लीटर से ऊपर पहुंच गया है, दाल का उत्पादन अधिक होने के बावजूद परिवहन

शुल्क बढ़ जाने के साथ कीमतें लगातार बढ़ रही है।

विस चुनाव के बाद से लगातार इसकी कीमतें बढ़ रही हैं

इससे कमजोर और मध्यम वर्ग के रसोई का बजट पूरी तरह से गड़बड़ा गया है। उन्होंने

कहा कि ओर देश में कोरोना संक्रमण के फैलाव को लेकर अफरा-तफरी की स्थिति है, वहीं

पेट्रोल-डीजल की कीमत से मुश्किलें और बढ़ गयी है। कालाबाजारी पर अंकुश केंद्र सरकार

की जिम्मेवारी है, लेकिन केंद्र सरकार अपने दायित्वों से पीछे भाग रही है। प्रदेश कांग्रेस

प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनमी,

सीएमआईई के मुताबिक अप्रैल में करीब 8 फीसदी तक बेरोजगारी दर जा पहुंची है।

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान केन्द्र सरकार की गलत नीतियों की वजह से

अप्रैल महीने में देशभर में 75 लाख लोगों का रोजगार छिन गया और बेरोजगारी दर 4

महीने के सबसे ऊंचे स्तर पर है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव ने कहा

कि केंद्र सरकार ने पूरे देश के सिस्टम को तहस-नहस करने का काम किया है,

संवेदनशीलता और मानवता से परे अपने पूंजीपति मित्रों के हित को ध्यान में रखते हुए

एक ऐसे सिस्टम को विकसित किया गया है, जिसमें ह्रदय नहीं है, पत्थर है, इस सिस्टम

को जन से प्यार नहीं, अपने पूंजीपति मित्रों से प्यार है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता डॉ. राजेश

गुप्ता एवं अमूल्य नीरज खलखो ने कहा कि वैश्विक कोरोना महामारी की दूसरी लहर में

लोगों का रोजगार छीन गया है,ऐसे में आवश्यक वस्तुओं की कीमत बढ़ने से लोगों की

परेशानियां बढ़ गयी है। केंद्र सरकार अविलंब पेट्रोल-डीजल की कीमत में बढ़ोत्तरी को

वापस ले और कालाबाजारी पर अंकुश लगाये।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बयानMore posts in बयान »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: