fbpx Press "Enter" to skip to content

आदर्श आचार संहिता में लटक गया है किसान सम्मान निधि का भुगतान







  • ग्रामीण इलाकों में बन रहा है चुनाव का गंभीर मुद्दा
संवाददाता

रांचीः आदर्श आचार संहिता के बहाने किसान सम्मान निधि का भुगतान

का लटकना सरकार के गले में हड्डी बनता जा रहा है। पांच चरणों में होने

वाले झारखंड विधानसभा के चुनाव में इसकी किश्त के भुगतान नहीं होने

से राज्य के किसान परेशान और नाराज हैं। याद रहे कि केंद्र और राज्य

सरकार ने मिलकर किसान वोटरों को लुभाने के लिए दो तरह की योजनाओं

की शुरुआत की थी। केंद्रीय योजना के तहत देश के हर किसान को केंद्र

सरकार की तरफ से 6000 रुपए साल भर में मिलने हैं। यह राशि तीन किस्तों

में दी जानी है और हर किस्त 2000 रुपए की है।

पहले चरण में चतरा, गुमला, लोहरदगा, लातेहार, पलामू और गढ़वा में

चुनाव होना है। सात नवंबर 2019 को पीएम किसान सम्मान निधि योजना

की वेबसाइट के आंकड़ों के मुताबिक, इन छह जिलों में पीएम किसान

सम्मान निधि योजना के लाभुक किसानों की संख्या 4,64,517 है।

वहां भी छह जिलों में पहली किस्त की राशि 4,29,157 किसानों को दी गयी।

आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद यह पता चला कि आश्चर्यजनक

तरीके से दूसरी और तीसरी किस्त देने में किसानों की संख्या घटा दी गयी।

जहां पहली किस्त 4,29,157 किसानों को दी गयी तो दूसरी किस्त सिर्फ

2,18,485 किसानों को दी गयी। जबकि तीसरी किस्त में किसानों की संख्या

में और गिवारवट आयी।

सरकार ने किसानों की संख्या घटाते हुए 94,179 कर दी। वहीं 35,340

किसानों को योजना के तहत मिलने वाली राशि में से एक भी रुपया नहीं

मिला। चतरा में पीएम किसान सम्मान योजना निधि के तहत 95,702

किसानों को राशि मिलनी थी। लेकिन सरकार की तरफ से पहली किस्त

86,760 किसानों को ही दी गयी।

दूसरी किस्त में किसानों की संख्या घटते हुए आधे सभी कम 39,011 हो गयी।

आदर्श आचार संहिता लागू होने से कई जिलों में विलंब

गुमला में पीएम किसान सम्मान योजना निधि के तहत 76,353 किसानों को

राशि मिलनी थी। लेकिन सरकार की तरफ से पहली किस्त 73,095 किसानों

को ही दी गयी। दूसरी किस्त में किसानों की संख्या घट कर 43,047 हो गयी।

जबकि तीसरी किस्त मात्र 16,451 किसानों को दी गयी। वहीं 3258 किसानों

को एक भी रुपया नहीं मिला।

पीएम किसान सम्मान योजना निधि के तहत लोहरदगा में 31,681 किसानों

को राशि मिलनी थी। लेकिन सरकार की तरफ से पहली किस्त 28,726

किसानों को ही दी गयी।

दूसरी किस्त में किसानों की संख्या घट कर 17,210 हो गयी। जबकि तीसरी

किस्त मात्र 8655 किसानों को दी गयी। जबकि 2935 किसानों को एक भी

रुपया नहीं मिला।

लातेहार में पीएम किसान सम्मान योजना निधि के 48,069 लाभुक किसान

थे। लेकिन सरकार की तरफ से पहली किस्त 44,434 किसानों को ही दी गयी।

दूसरी किस्त में किसानों की संख्या घट कर 25828 हो गयी। जबकि तीसरी

और आखिरी किस्त मात्र 11750 किसानों को दी गयी। जबकि 3635 किसानों

को एक भी रुपया नहीं मिला।

पलामू में प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना निधि के तहत 12,5841

किसानों को राशि मिलनी थी। लेकिन सरकार की तरफ से पहली किस्त

11,6797 किसानों को ही दी गयी। दूसरी किस्त में किसानों की संख्या घट कर

52,889 हो गयी। जबकि तीसरी किस्त मात्र 16,164 किसानों को ही दी गयी।

वहीं जिले 9,044 किसानों को योजना के तहत एक भी रुपया नहीं मिला।

गढ़वा में पीएम किसान सम्मान योजना निधि के तहत 86,871 किसानों को

राशि मिलनी थी। लेकिन सरकार की तरफ से पहली किस्त 79,345 किसानों

को ही दी गयी। दूसरी किस्त में किसानों की संख्या घट कर 40,500 हो गयी।

योजना में पहले किस जिला को कितने पैसा

जिला कुल संख्या पहली किश्त दूसरी किश्त तीसरी किश्त नहीं मिला
गढ़वा 86871 79345 40500 17188 7526
गुमला 76353 73095 43047 16451 3258
चतरा 95702 86760 39011 23971 8942
पलामू 125841 116797 52889 16164 9044
लातेहार 48069 44434 25828 11750 3635
लोहरदगा 31681 28726 17210 8655 2935

 

 



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.