fbpx Press "Enter" to skip to content

पारा शिक्षकों ने वादा निभाओ कार्यक्रम के तहत वित्त मंत्री के घर पर धरना दिया

  • वित्त मंत्री के निर्देश पर तीन सदस्यीय दल ने उनकी बातें सुनी

  • पूर्व घोषित आंदोलन के तहत पहुंचे थे पारा शिक्षक

  • डॉ ऊरांव ने दिया था उनसे गहन वार्ता का निर्देश

  • राज्य के 65 हजार ऐसे शिक्षकों की मांग बतायी

राष्ट्रीय खबर

रांचीः पारा शिक्षकों द्वारा वादा निभाओ कार्यक्रम के तहत सत्तापक्ष के विधायकों एवं

मंत्रियों की आवास पर धरना कार्यक्रम के मद्देनजर आज 6 जिलों के हजारों पारा शिक्षक ने

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव के बरियातू स्थित आवास पर

धरना दिया। डॉ रामेश्वर उरांव के तरफ से प्रदेश कांग्रेस कमेटी का तीन सदस्यीय

प्रतिनिधिमंडल प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव एवं

डॉ राजेश गुप्ता छोटू इनलोगों के धरना स्थल पर पहुंचकर उनसे वार्ता की, उनकी बातें

सुनी एवं ज्ञापन लिया। साथ ही साथ प्रदेश अध्यक्ष सह वित्त मंत्री का संदेश भी उन्हें

दिया। पारा शिक्षकों की ओर से मनोज यादव विमलेश महतो एवं मोहम्मद शकील ने कहा

कि 65 हजार पारा शिक्षकों के स्थायीकरण व वेतनमान की मांग को लेकर हम सरकार का

ध्यान आकृष्ट करा रहे हैं, गठबंधन की सरकार हमारी सरकार है जो संवेदनशील है।

गठबंधन के सभी साथियों ने घोषणा पत्र में पारा शिक्षकों के स्थायीकरण एवं मानदेय में

वृद्धि का वादा सरकार बनते ही पूरा करने की बात कही थी जिसे हम याद दिलाने आए हैं।

उनलोगों ने कहा कोरोना वायरस के कारण 500 से अधिक पारा शिक्षकों की जाने चली गई

हैं जिनके परिजनों का सुध लेने वाला कोई नहीं है। सेवानिवृत्ति के बाद हमारी स्थिति का

आकलन नहीं किया गया है। 20 वर्षों से हम झारखंड के बच्चों को शिक्षित कर रहे हैं। अब

हमारी उम्र भी नहीं है कि हम दूसरा कोई काम कर सके, ऐसे में हमारी सरकार अविलंब

हमारी समस्याओं का समाधान करे। वादा पूरा करो अभियान कार्यक्रम का मकसद

सरकार का विरोध नहीं बल्कि सरकार के संज्ञान में समस्याओं को लाना है।

पारा शिक्षकों को वित्त मंत्री के प्रतिनिधिमंडल ने आश्वस्त किया

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव एवं डा

राजेश गुप्ता छोटू ने हजारों की संख्या में मौजूद आंदोलनकारियों को आश्वस्त करते हुए

कहा कि उनकी सरकार पूरी तरह से पारा शिक्षकों के साथ ख़ड़ी है। विभागीय मंत्री

जगन्नाथ महतो के बीमार होने की वजह से निर्णय में देर हुए हैं और कोरोना महामारी के

कारण भी परेशानियां हुई है लेकिन अब सरकार पूरी तरह से समस्या के समाधान के लिए

प्रयासरत है। मुख्यमंत्री की व्यस्तता के बावजूद पारा शिक्षकों की प्रतिनिधिमंडल से

उन्होंने मुलाकात की और उनकी मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार किए जाने का भरोसा

दिलाया है। वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने स्पष्ट किया है कि जल्द ही पारा शिक्षकों की

समस्याओं का निदान होगा,प्रतिनिधिमंडल ने पारा शिक्षकों को आश्वस्त किया कि

फरवरी महीने में कुछ ना कुछ समाधान निकलने की पूरी संभावना है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from शिक्षाMore posts in शिक्षा »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: