fbpx Press "Enter" to skip to content

केंद्रीय बजट का फायदा गिनाने पलामू सांसद ने प्रेस से सीधा बात की

  • यह पहल आत्मनिर्भर भारत की ओर एक कदम

  • देश भर में एक सौ सैनिक स्कूल बनाये जाएंगे

  • गांव के लोगों को अधिकार के दस्तावेज

  • केंद्र सरकार किसानों के प्रति प्रतिबद्ध है

राष्ट्रीय खबर

गढ़वा: केंद्रीय बजट का फायदा गिनाने के लिए पलामू के सांसद बीडी राम ने यहां पत्रकारों

से चर्चा की। उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2021 और 22 का केंद्रीय बजट सकारात्मक एवं

ऐतिहासिक विकास को गति प्रदान करने वाला एवं आत्मनिर्भर भारत बनाने की दिशा की

ओर पड़ता कदम का बजट है, यह बजट ऐतिहासिक है। उक्त बातें पलामू लोकसभा क्षेत्र के

सांसद विष्णु दयाल राम गढ़वा परिसदन में आज पत्रकार वार्ता के दौरान कही। उन्होंने

कहा कि केंद्रीय बजट मुख्य रूप से छह स्तंभों पर आधारित है जिनमें स्वास्थ्य और

कल्याण, भौतिक और वित्तीय पूंजी और संरचना, आकांक्षी भारत के लिए समावेशी

विकास, मानव पूंजी में नवजीवन का संचार करना,नवप्रवर्तन और अनुसंधान एवं

विकास,न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन प्रथा पर आधारित है। उन्होंने पत्रकारों

को जानकारी देते हुए बताया कि इस बजट में स्वास्थ्य और कल्याण में लोगों की

खुशहाली के लिए पिछले वर्ष की तुलना में 137% की वृद्धि की गई है। जिसमें 21-22 में 2

लाख 23 हजार 846 करोड़ स्वास्थ्य पर सरकार खर्च करेगी। सरकार पीएम आत्मनिर्भर

स्वस्थ भारत योजना लांच की जाएगी जिसमें 6 वर्षों के लिए 64180 करोड़ रुपए का

प्रावधान किया गया है। इसमें प्रथम द्वितीय और तृतीय स्वास्थ्य क्षमता को विकसित

करेगा सरकार द्वारा रेलवे के लिए 110055 करोड रुपए की राशि दी गई, जिसमें 107100

करोड़ रुपए पूंजीगत व्यय के लिए रखा गया है। उन्होंने बताया कि सरकार किसानों के

कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। एमएसपी की व्यवस्था में मूलभूत परिवर्तन किया गया है

जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि सभी प्रकार की मामलों में उत्पादन लागत का 1.5 गुना

कीमत मिल सके। इसमें खरीद का कार्य तेजी से जारी है इसके परिणाम स्वरूप किसानों

को पर्याप्त भुगतान किए जाने के मामले में बढ़ोतरी हुई है।

केंद्रीय बजट का फायदा गिनाते हुए उपलब्धियों की चर्चा भी की

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की शुरूआत की गई है। इस योजना के

अंतर्गत गांव के मालिकों को अधिकार के दस्तावेज दिए जा रहे हैं। अब तक कुल 1241

गांवों के लगभग एक लाख संपत्ति मालिकों को कार्ड दिए गए हैं। किसानों को पर्याप्त

ऋण सुलभ कराने के लिए वितीय वर्ष 2022 में कृषि ऋण के लक्ष्य को बढ़ा कर सोलह

लाख पांच सौ करोड़ कर दिया गया है, जिसका सीधा लाभ किसानों को मिल सकेगा।

सांसद ने केंद्र सरकार की उपलब्धि को बजट में प्रावधान को बताते हुए बताया कि 15,000

से अधिक विद्यालयों में गुणवत्ता की दृष्टि से सुधार किया जाएगा। गैर सरकारी संगठनों

निजी स्कूलों के साथ भागीदारी में 100 सैनिक स्कूल विभिन्न राज्यों में स्थापित किए

जाएंगे। जनजाति क्षेत्रों में 750 एकलव्य मॉडल रेजिडेंशियल स्कूल की स्थापना करने का

प्रावधान है और इसे बढ़ाकर 48 करने का प्रावधान है। कोरोना महामारी के समय 80 करोड़

लोगों को मुफ्त अनाज दिया गया, 8 करोड़ परिवारों को मुफ्त रसोई गैस दिया गया। 80

करोड़ से अधिक किसानों,महिलाओं, बुजुर्गों ,गरीब और जरूरतमंदों को सीधे नगद

धनराशि उनके खाते में स्थानांतरित किया गया। यह बजट आत्मनिर्भर भारत को सफल

बनाने का सशक्त माध्यम है इससे अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी। यह बजट सबका

साथ सबका विकास और सबका विश्वास के मंत्र पर आधारित है इस मौके पर पत्रकार

वार्ता में भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश केशरी,पूर्व मंत्री गिरिनाथ सिंह, वरिष्ठ भाजपा

नेता अलख पांडे, विश्रामपुर विधायक प्रतिनिधि भोला चंद्रवंशी, मुकेश निरंजन सिन्हा,

पूर्व जिला अध्यक्ष गिरेन्द्र पांडे रघुराज पांडेय, विनय चौबे ,बबलू दुबे सहित अन्य लोग

उपस्थित थे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from गढ़वाMore posts in गढ़वा »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

One Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: