fbpx Press "Enter" to skip to content

पाकिस्तान के मंत्री ने कबूला कि आतंकी हमले में उसका हाथ

  • विवाद बढ़ा तो पलट गये संसद के बयान से

  • आर्थिक प्रतिबंधों से बचने सरकार इंकार करती रही

  • विंग कमांडर अभिनंदन के मामले का भी उल्लेख किया

  • पुलवामा हमले को पाकिस्तान की बड़ी कामयाबी के तौर पर बयान दिया

राष्ट्रीय खबर

नईदिल्लीः पाकिस्तान के मंत्री ने ही अपने संसद में आतंकवाद को समर्थन देने की बात

कह दी। इस बात पर जब कूटनीतिक तौर पर विवाद बढ़ने का अंदेशा हुआ तो जनाब संसद

के अंदर दिये अपने ही बयान से पलट भी गये। वैसे भी पाकिस्तातन के आतंकवाद को शह

देने के बारे में पूरी दुनिया जानती है लेकिन अब पाकिस्तान सरकार के मंत्री फवाद

चौधरी ने खुद संसद में कबूला है कि पुलवामा आतंकी हमला इमरान खान की सरपरस्तीर

में अंजाम दिया गया। उन्होंंने कहा कि पुलवामा इमरान खान के नेतृत्व में एक बड़ी

उपलब्धि थी।इससे पहले आर्थिक प्रतिबंधों से बचने के लिए पाकिस्तानन की इमरान

खान सरकार पुलवामा में आतंकी हमले से इंकार करती रही है, अब पाकिस्ता न की

नेशनल असेंबली में खुद उसके मंत्री ने कबूल लिया है कि इमरान खान सरकार ने ही यह

आतंकी हमला करवाया था। इमरान खान सरकार के मंत्री फवाद चौधरी ने संसद में माना

कि पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले में पाकिस्तान का हाथ था।

पाकिस्तान के मंत्री ने इमरान और पार्टी को इसका श्रेय दिया

पुलवामा हमला पाकिस्तान की कामयाबी है। फवाद चौधरी ने पुलवामा हमले का श्रेय

इमरान खान और उनकी पार्टी पीटीआइ को दिया। 14 फरवरी 2019 को कश्मीर के

पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था, जिसमें सीआरपीएफ के

40 जवान शहीद हो गए थे। एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटक से भरी कार

सीआरपीएफ के काफिले से टकरा दी थी, इस धमाके में सीआरपीएफ के जवान शहीद हो

गए थे। इसके बाद भारत ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक करते हुए आतंकी लॉन्चपैड को

तबाह किया था। एयर स्ट्राइक में बड़ी संख्या में आतंकवादी, ट्रेनर और सीनियर कमांडर

मारे गए। इस कैंप को मसूद अजहर का साला मौलाना युसूफ अजहर संचालित कर रहा

था। मंत्री फवाद चौधरी से पहले इमरान खान की पार्टी पीएमएल-एन के सांसद ने खुलासा

किया था कि भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन की रिहाई न होने पर भारत,

पाकिस्तान पर हमले के लिए तैयार बैठा था। उन्होंने इस बात को कबूला कि उस वक्त

पाकिस्तानी सेना के प्रमुख की हालत खराब थी, उनके हाथ पैर कांप रहे थे। अगर

पाकिस्तान अभिनंदन को नहीं छोड़ता तो भारत कभी भी हमला कर सकता था।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from आतंकवादMore posts in आतंकवाद »
More from कूटनीतिMore posts in कूटनीति »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पाकिस्तानMore posts in पाकिस्तान »
More from बयानMore posts in बयान »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

One Comment

  1. […] पाकिस्तान के मंत्री ने कबूला कि आतंकी … विवाद बढ़ा तो पलट गये संसद के बयान से आर्थिक प्रतिबंधों से बचने सरकार इंकार करती … […]

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: