पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ने हमले में हाथ होने से किया इंकार

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ने हमले में हाथ होने से किया इंकार
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  • आतंकवाद पर भारत के साथ बातचीत के लिए तैयार

  • इंटेलिजेंस रिपोर्ट है तो हमें सबूत दें हम एक्शन लेंगे

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पुलवामा आतंकवादी हमले में

उसके देश का हाथ होने से साफ इन्कार करते हुए कहा कि इसको लेकर

भारत अगर कोई कार्रवाई करता है तो वह खामोश नहीं बैठेंगे और उसका जवाब देंगे।

खान ने पुलवामा हमले पर पहली बार प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए एक बयान में कहा कि

इस घटना को लेकर भारत ने बिना किसी सबूत और सोच-विचार किये पाकिस्तान पर आरोप मढ़ दिये।

पाकिस्तान के हित में यह नहीं है कि कोई यहां से जाकर आतंकवादी हरकतें करें

अथवा कोई यहां आकर दहशतगर्दी संबंधी वारदातों को अंजाम दे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ पुलवामा की घटना की किसी भी तरह की जांच कराने के वास्ते पाकिस्तान तैयार है,

यदि भारत हमारे खिलाफ कार्रवाई करने की सोच रहा है

तो वह इस गफलत में न रहे कि हम खामोश बैठे रहेंगे।

हम उसका जवाब देंगे।’’

गौरतलब है कि भारत के पुलवामा हमले के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराये जाने के बाद

दोनों देशों के बीच तल्खियां बढ़ गयी हैं।

पाकिस्तान ने भारत के इस आरोप को खारिज भी किया है।

हमले के तत्काल बाद पाकिस्तान आधारित कुख्यात आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इसकी जिम्मेदारी ली थी।

इमरान खान ने पुलवामा हमले से अपनी धरती के इस्तेमाल होने से इनकार करते हुए जांच में सहयोग का पुराना राग अलापा।

उन्होंने कहा, आप जिस तरीके की तहकीकात करना चाहते हैं हम तैयार हैं।

आपके पास इंटेलिजेंस रिपोर्ट है तो हमें सबूत दें हम एक्शन लेंगे।

इमरान  ने भारत को ही नसीहत दे डाली

अब तक किसी भी एक्शन से दूर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कश्मीर को लेकर उलटे ही भारत को ही नसीहत दे डाली।

इमरान खान ने कहा, मैं आपसे दो बातें कहना चाहता हूं।

हिंदुस्तान में नई सोच आनी चाहिए कि क्या वजह है कि कश्मीर के नौजवान उस जगह पहुंच गए हैं कि

उन्हें मौत का खौफ नहीं।

इस मौके पर इमरान ने ये भी बताया कि अब पाकिस्तान बदल चुका है और इस वक्त ये नया पाकिस्तान है।

खान ने कहा कि भारत के बयान पर उन्होंने पहली दफा अपनी प्रतिक्रिया दी

क्योंकि सऊदी अरब के शहजादे का यहां महत्वपूर्ण दौरा था और वह इससे ध्यान बंटाना नहीं चाहते थे।

उन्होंने कहा कि अब वह इसका जवाब दे रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘ हम खुद पिछले 15 साल से आतंकवाद से लड़ रहे हैं।

इन घटनाओं से हमारे देश को क्या लाभ होगा।

मैं स्पष्ट रूप से कहना चाहता हूं कि यह एक नया पाकिस्तान है और इसकी नयी मनोवृत्ति है।’’

पाकिस्तान अब पुराना पाकिस्तान नहीं रहा

खान ने पुलवामा हमले की वारदात की जांच का प्रस्ताव करते हुए कहा, ‘‘यदि भारत कार्रवाई के योग्य कोई सूचना उपलब्ध करवाता है तो हम भी पुलवामा हमले की जांच के लिए तैयार है।

खान ने कहा ऐसा हम किसी दबाव में नहीं करेंगे बल्कि यह हमारी नीति है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ हम आतंकवाद पर भारत के साथ बातचीत के लिए तैयार हैं।

क्षेत्र में आतंकवाद एक बड़ा मसला है और हम इसे खत्म करना चाहते हैं।’’

प्रधानमंत्री ने सवालिया लहजे में कहा, ‘‘ भारत क्या सेना के जरिये मसले का हल करना चाहता है।

यह तरीका कभी सफल नहीं रहा है। मैं सुन और देख रहा हूं कि भारतीय मीडिया और राजनेता पाकिस्तान से बदला लेने की बातें कर रहे हैं।

यदि भारत सोच रहा है कि वह पाकिस्तान पर हमला करेगा तब हम केवल सोचेंगे ही नहीं बल्कि जवाबी कार्रवाई करेंगे।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.