Press "Enter" to skip to content

साईबेरिया के कोयला खान दुर्घटना में 52 से अधिक मरे




मॉस्कोः साईबेरिया के कोयला खान में गुरुवार को आग लगने से 52 से अधिक लोगों की मौत की सूचना है। यहां से करीब साढ़े तीन हजार किलोमीटर दूर इस इलाके में खदान में यह हादसा तब हुआ जब वहां आग लग गयी थी। यह आग वहां खदान के अंदर हवा पहुंचाने के लिए बने रास्ते पर लगी थी। 




इससे खदान के अंदर धुआं फैल गया था। खदान के अंदर दम घुंटने वहां काम कर रहे लोगों की मौत हुई है। आग शायद बाद में अन्य इलाकों में भी फैल गयी थी क्योंकि वहां बचाव के लिए पहुंचे राहत दल के एक अधिकारी के मुताबिक घटनास्थल पर कोई भी जीवित नहीं पाया गया है। साईबेरिया के लिस्टव्यांझा खदान में यह हादसा हुआ है।

घटना के बारे में पता चला है कि यह हादसा स्थानीय समय के मुताबिक 8.35 पर प्रारंभ हुआ था। वहां अंदर तक हवा पहुंचाने के लिए जो भेंट बना हुआ है, उसके पास ही कोयले के ढेर में आग लग गयी। आग लगने से सारा धुआं इसी रास्ते से अंदर खदान में चला गया। 




साईबेरिया के कोयला खदान के तीन अधिकारी गिरफ्तार

हादसा होने के तुरंत बाद ही वहां बचाव दल पहुंच गया था लेकिन खदान के अंदर मिथेन गैस की अत्यधिक मात्रा होने की वजह से वे विस्फोट की आशंका से अंदर नहीं जा पाये।

खदान के अंदर से इस मिथेन गैस को खींचकर बाहर निकालने में काफी समय लग गया। बचाव दल का कहना है कि इतनी अधिक मात्रा में मिथेन गैस होने की वजह से अंदर कभी भी भीषण विस्फोट भी हो सकता था। अंतिम सूचना के मुताबिक साईबेरिया के इस खदान के निदेशक सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

खदान में गहराई में काम करने वाले मजदूर इसी धुआं की चपेट में आकर मारे गये हैं। वैसे खदान के अधिकारियों के मुताबिक अंदर काम करने वाले दर्जनों मजदूर अभी लापता है। दूसरी तरफ राहत दल के मुताबिक वहां के 49 लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया है जिनमें से कुछ को मामूली चोटें लगी हैं। इनमें से चार की हालत गंभीर बतायी जाती है।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रुसMore posts in रुस »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: