fbpx Press "Enter" to skip to content

ओरमांझी कामता का व्यक्ति महाजनों के तगादे से तंग आ गया था

  • कर्ज के दबाव में आकर अफजल मलिक ने फांसी लगा ली

ओरमांझीः ओरमांझी कामता गांव के मलिक महल्ला रहने वाले स्वर्गीय यूनुस मलिक का

48 वर्षीय पुत्र अफजल मलिक ने शनिवार की रात अपने निजी मकान में चादर के सहारे

अल्वेस्टर पाईप मे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। रविवार की सुबह परिजनों को

फांसी के फंदे में झूलते अफजल मलिक का शव मिला। शव देख परिजन हक्का बक्का रह

गये। परिजन फांसी के फंदे पर लटके शव को देख खूब चीखने चिल्लाने लगे। जिसके बाद

मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की जानकारी लिया और ग्रमीणों की मदद से शव को

फांसी के फंदे से नीचे उतारा। फिर पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया। पोस्टमार्टम के

बाद पुलिस ने शव को परिजनों को सौंप दिया। जिसके बाद शव को कामता कब्रस्तान में

दफ़नाया गया। मृतक अफजल मलिक ड्राइवरी का काम कर अपने परिवार का लालन

पालन कर रहे थे। आसपास के ग्रामीणों ने बताया कि अफजल मलिक कई लोगों के कर्ज

में डूबा था। महिला समिति से भी पैसे निकालकर कर महाजनों का कर्ज अदा कर रहा था।

इससे अंदेशा लगाया जा सकता है कि मृतक डिप्रेशन में आकर आत्महत्या किया होगा ।

वही पुलिस पूरे मामले की तहकीकात में जुटी हुई है। मृतक अफजल मलिक का 4 बेटी व 4

बेटा है।अफजल मलिक ने अपने जीवन काल में तीन बेटियों व एक बेटा का शादी कर चुका

है । घटना की खबर सुनकर अंजुमन इस्लामिया कामता के सेक्रेटरी सह ओरमांझी 

उपमुखिया मुमताज आलम मृतक के घर पहुंचे और परिजनों को सांत्वना दिया।और हर

संभव मदद करने का आश्वासन दिया अफलज मलिक के फांसी लगाकर आत्महत्या

करने से पूरा गांव सदमे में है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!