Press "Enter" to skip to content

रोटी बैंक के एक हजार दिन पूरे होने पर रक्तदान शिविर का आयोजन

Spread the love



  • राष्ट्रीय खबर

जयनगर, मधुबनी : रोटी बैंक के एक हजार दिन पूरे होने के मौके पर सुरेका अतिथि भवन




के सभागार में रक्तदान शिविर और ब्लड ग्रुप जांच शिविर का आयोजन किया। सुरेका

अतिथि निवास जयनगर में रोटी बैंक संस्था द्वारा आयोजित शिविर में 60 लोगों ने

रक्तदान कर पूण्य के भागी बने और लोगों को रक्तदान महादान का संदेश दिया। वहीं

260 लोगों की ब्लड की जांच की गई।रक्तदान शिविर सह ब्लड ग्रुप जांच शिविर का

शुभारंभ एसडीएम जयनगर बेबी कुमारी, ईओ अमित कुमार, जयनगर थानाध्यक्ष संजय

कुमार, डा अजित सिंह, डा त्रिपुरारी प्रसाद, डा मनोहर जायसवाल, अरुण जैन, दीपक

खर्गा, विश्वंभर पूर्वे समेत अन्य आगत अतिथियों द्वारा फीता काटकर किया गया।

आयोजकों द्वारा आगत अतिथियों को मिथिला की पारंपरिक पाग दोपट्टा पहनाकर

स्वागत किया गया। सदर अस्पताल स्थित ब्लड बैंक के डा राजीव द्वारा रक्तदान किए

लोगों का रक्त संग्रहित किया गया, साथ ही लोगों के लोगों के रक्त की जांच कर उन्हें

ब्लड ग्रुप संबंधित प्रमाण पत्र उपलब्ध कराया गया। कार्यक्रम को संबोधित करती हुई




एसडीएम जयनगर बेबी कुमारी ने कहा कि रोटी बैंक की यह पहल सराहनीय है। इसकी

जितनी भी प्रसंशा की जाए वह कम है। कोरोना संकट के समय में रक्तदान शिविर का

आयोजन और दर्जनों लोगों द्वारा आगे आकर रक्तदान करना सार्थक पहल है। उन्होंने

रक्तदान को महादान बताते हुए कहा कि रक्तदान से हम किसी को जीवन दान देते हैं।

रोटी बैंक की स्थापना उत्साही युवकों द्वारा की गयी थी

रोटी बैंक की स्थापना जयनगर के उत्साही युवाओं द्वारा गांधी जयंती के अवसर पर की

गई थी। बैंक का उद्देश्य गरीबों, नि:सहायों और जरूरतमंदों को रात का भोजन उपलब्ध

कराना था ताकि कोई भूखा न सोये। साथ ही समय समय पर सामाजिक सरोकार से जुड़े

अन्य गतिविधि भी की जाती रही है। संस्था के स्थापना के एक हजार दिन पूरा होने पर

संस्था के लक्की राउत, अमीर गुप्ता, रौशन सिंह,ओमप्रकाश नायक, धीरज साह, पंकज

कुमार समेत अन्य लोगो द्वारा रविवार को रक्तदान शिविर सह ब्लड ग्रुप जांच शिविर का

आयोजन किया गया।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from मधुबनीMore posts in मधुबनी »

Be First to Comment

Leave a Reply