Press "Enter" to skip to content

मॉब लिंचिंग के आरोप में गिरफ्तार युवकों को छुड़ाने के लिए थाना का घेराव

Spread the love



  • पुलिस ने दो दर्जन लोगों को हिरासत में लिया

  • डीएसपी की पहल पर दोनों पक्षों की बैठक

  • काफी संख्या में महिलाएं भी मौजूद

  • किसी की नहीं सुन रहे थे ग्रामीण

राष्ट्रीय खबर

अनगड़ा : मॉब लिंचिंग के मामले में आज दूसरा पक्ष भी बेकसूरों की गिरफ्तारी करने




मैदान में आ डटा। अनगड़ा थाना क्षेत्र के सिरसा में दो दिन पूर्व एक युवक की हत्या का

मामला अब तूल पकड़ता दिख रहा है।

वीडियो में देखिये विरोध और बैठक

मामले में पुलिस प्रशासन द्वारा करीब दो दर्जन लोगों को हिरासत में लिया गया है।

मंगलवार को गिरफ्तारी की विरोध में सिरका, मेढ़ई टुंगरी समेत करीब आधा दर्जन गांव

की हजारों महिलाएं अनगड़ा थाना पहुंची और थाने का घेराव कर दिया। इस दौरान पुलिस

के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गयी। महिलाएं हिरासत में लिए गए सभी लोगों को

अविलंब छोड़ने की मांग कर रही थी। ग्रामीणों के अनुसार पुलिस ने मॉब लिंचिंग के

मामले में जिन आरोपियों को हिरासत में लिया है वे सभी निर्दोष है। एक सोची समझी

साजिश के तहत बेकसूर लोगों को फंसाया जा रहा है। 

ग्रामीण करीब चार घंटे तक थाना के बाहर अपनी मांगों को लेकर डटे रहे। इस दौरान भारी

संख्या में पुलिस बल की तैनाती थाने के बाहर कर दी गई थी। ग्रामीणों के द्वारा थाना

घेराव किए जाने की सूचना पर डीएसपी क्रिस्टोफर केरकेट्टा थाना पहुंचे। इस दौरान

उन्होंने ग्रामीणों से विभिन्न बिंदुओं पर बातचीत करने की कोशिश की लेकिन ग्रामीण




बात सुनने को तैयार नहीं थे। लिहाजा काफी देर तक डीएसपी के समझाने पर ग्रामीण

बातचीत को तैयार हुए।

मॉब लिंचिंग से उपजे विवाद पर दोनों पक्षों की बैठक हुई

करीब दो बजे थाना परिसर में पुलिस अधिकारियों और प्रतिनिधियों की बैठक हुई। बैठक

में निर्णय हुआ कि घटना में शामिल लोगों को पुलिस जेल भेजती है, तो ग्रामीणों को कोई

आपत्ति नहीं है। लेकिन यदि बेकसूर लोगों को जेल भेजा गया तो इसका विरोध किया

जाएगा। प्रशासन ने बताया कि अभी अनुसंधान जारी है, आश्वस्त किया कि दोषियों को

छोड़ा नही जाएगा और निर्दोष को जेल नहीं भेजा जाएगा। बैठक में निर्णय हुआ कि बहुत

जल्द शांति समिति की बैठक कराई जाएगी। इस बावत प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया।

इसके बाद ग्रामीण शांत हुए। बैठक में सीओ पुष्पक रजक, डीएसपी क्रिस्टोफर केरकेट्टा,

इंस्पेक्टर राजकुमार यादव, थाना प्रभारी ब्रजेश कुमार, सीआई शैलेश कुमार, कुर्मी विकास

मोर्चा के अध्यक्ष शीतल अहोदार, सचिव रामपदो महतो, भाजपा ग्रामीण जिला अध्यक्ष

सुरेंद्र महतो, भाजपा ओबीसी मोर्चा के जिला अध्यक्ष प्रताप कुशवाहा, मनोज चौधरी,

रामनाथ महतो, सांसद प्रतिनिधि कामेश्वर महतो, आजसू पार्टी के जिला उपाध्यक्ष

जलनाथ चौधरी, प्रखंड अध्यक्ष जगन्नाथ महतो अतीश कुमार सखिशचन्द्र महतो,

रामकृष्ण चौधरी, किशोर मुंडा आदि शामिल थे।



More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from महिलाMore posts in महिला »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

Leave a Reply