fbpx Press "Enter" to skip to content

ढाका में हिंदू से मुसलमान बनी भारतीय महिला आतंकवादी गिरफ्तार

प्रतिनिधि

ढाकाः ढाका में एक महिला आतंकवादी को गिरफ्तार किया गया है। वह मूल रुप से भारत

की रहने वाली हैं। वहां प्रतिबंधित किये गये जमायतुल मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी)

से जुड़ी इस महिला को आतंकवाद विरोधी दस्ते ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार महिला

के बारे में अभी जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक उसका नाम आयशा जन्नत उर्फ

जन्नतुल तासमीन उर्फ प्रज्ञा देवनाथ है। गिरफ्तार के बाद अदालत में उसे प्रस्तुत किया

गया था। अदालत ने उसे दो दिन के लिए पुलिस की हिरासत में भेजा है। ताकि उससे और

पूछ ताछ की जा सके।

अपने पहचान छिपाते हुए 25 साल की यह महिला बुढ़ी गंगा के दक्षिण में किरानीगंज के

एक मदरसा में शिक्षक बनी हुई थी। वहां शिक्षक होने के बाद भी वह आतंकवादियों के

लिए महिलाओं की बहाली का ऑनलाइन कार्यक्रम चला रही थी। समझा जाता है कि इस

काम के लिए उसे विदेश से भी पैसे मिला करते थे। पुलिस के सहायक आयुक्त शेख

इमरान हुसैन ने इस बारे में पत्रकारों को बताया कि वह एक भारतीय नागरिक हैं।

ढाका में पकड़ी गयी महिला ने धर्म परिवर्तन किया है

मूल रुप से हिंदू रही इस महिला ने बाद में धर्म परिवर्तन कर लिया था और काफी दिनों से

आतंकवादियों के संपर्क में थीं। इस सात आठ फरवरी को मोतीझील इलाके से जेएमबी की

महिला शाखा की प्रमुख आसमा को गिरफ्तार किया गया था। आसमा से इस महिला की

जान पहचान होने के बाद ही वह आतंकवादियों के लिए महिलाओं को प्रेरित करने का

काम करने लगी थी। आसमा की गिरफ्तारी के बाद से ही यह महिला ही महिलाओं की

आतंकवादी संगठन में ऑन लाइन बहाली की जिम्मेदारी संभाल रही थी। खबर के

मुताबिक इस ऑन लाइन बहाली में कुछ पुरुष भी उनके संपर्क में आये थे। इस काम के

लिए कई देशों से उसके पास पैसा आया करते थे। वर्ष 2016 से बांग्लादेश आने जाने के

लिए वह भारतीय पासपोर्ट का इस्तेमाल करती थी लेकिन पिछले साल सितंबर में उन्होंने

किरानीगंज में अपने जन्म का प्रमाणपत्र हासिल किया था। इसी आधार पर उसने

बांग्लादेश की नागरिकता हासिल कर ली थी।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from आतंकवादMore posts in आतंकवाद »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बांग्लादेशMore posts in बांग्लादेश »
More from महिलाMore posts in महिला »

One Comment

Leave a Reply