Press "Enter" to skip to content

फिल्म की शूटिंग में असली गोली चलने के एक की मौत




नकली गोलियों को किसी ने बदल दिया था
लंच के बाद शूटिंग हुई तो असली गोली चली
चार लोग वहां हथियार और गोली के करीब थे

सांटा फेः फिल्म की शूटिंग में असली गोली कैसे चली, यह सवाल रहस्य बन गया है। दरअसल यहां रस्ट नामक फिल्म की शूटिंग में असली गोली के चल जाने की वजह से एक व्यक्ति की मौत भी हो चुकी है।




यहां के काउंटी शेरीफ विभाग ने घटना के लिए प्रारंभिक तौर पर जिम्मेदार पाये गये चौथे व्यक्ति के खिलाफ भी वारंट जारी किया है। फिल्म की शूटिंग में इस्तेमाल होने वाले रिवाल्वरों में नकली गोलियों का इस्तेमाल होता है।

इसी तरीके से जब फिल्म की शूटिंग चल रही थी तो नकली के बदले असली गोली चल गयी। असली गोली चलने से वहां की सिनेमाटोग्राफर हैलेना हचिंस की मौत हो गयी है जबकि निदेशक जोएल डीसूजा घायल हो गये हैं।

इस फिल्म की शूटिंग में हथियारों के पास मौजूद रहने वाले सभी लोगों के खिलाफ जांच की जा रही है ताकि यह पता चल सके कि नकली गोलियों के बदले असली गोलियां किसने रखी थी।

इस फिल्म की शूटिंग के लिए हथियारों की देखभाल की मुख्य जिम्मेदारी हन्नाह गुटिरेज की थी। उस महिला ने बताया है कि काम के दौरान वह कई बार इधर उधर भी हुई है।

इससे समझा गया है कि हथियार और गोलियां असुरक्षित अवस्था में रखी गयी थी। अब यह जांचा गया रहा है कि इस दौरान हथियार और गोलियों के पास तीन और लोग आये थे।

इसलिए प्रारंभिक तौर पर संदेह है कि इन चार लोगों में से ही किसी ने नकली के बदले असली गोलियां रख दी थी।




फिल्म की शूटिंग के दौरान जब असली गोली चली तो वह सिनेमाटोग्राफर को जा रही जबकि पास खड़े निदेशक एक अन्य गोली से घायल हो गये। हन्नाह को ही तमाम हथियारों की देखभाल की जिम्मेदारी सौंपी गयी थी।

फिल्म की शूटिंग में अचानक ही गोलियां बदली गयी

पुलिस को इस महिला ने बताया है कि फिल्म की शूटिंग प्रारंभ होने के पूर्व उन्होंने खुद हथियारों और गोलियों की जांच सही तरीके से की थी और पाया था कि गोलियां नकली हैं।

जब उन्होंने इन्हें देखा था तो वहां कोई जिंदा गोली नहीं थी। उसके बाद वहां भोजनावकाश हो गया था। वहां से सारे हथियार हटाकर एक तिजोरी में रख दिये गये थे लेकिन नकली कारतूसों को वहीं छोड़ दिया गया था।

इस काम के लिए इस्तेमाल होने वाले ट्रक में अतिरिक्त् कारतूस भी रखे हुए थे ताकि जरूरत होने पर उनका इस्तेमाल किया जा सके। भोजन कर लेने के बाद जब दोबारा फिल्म की शूटिंग प्रारंभ हुई तो गुटिरेज ने बक्सा खोलकर हथियार अलेक वाल्डविन को सौंपे थे।

यह हथियार कई बार डेविड हाल्स के हाथ भी लगे थे, जो इस फिल्म के सहायक निदेशक हैं। दूसरी तरफ एक व्यक्ति की मौत के बाद वहां पहुंची पुलिस को घटनास्थल से जिंदा गोली मिले हैं जबकि घायल डीसूजा के कंधे से भी असली बुलेट ही निकाला गया है।

इसलिए अब तक यह गुत्थी नहीं सुलझ पायी है कि नकली बुलेट को बदलकर असली गोली किसने रखी थी। कुल मिलाकर फिल्म की शूटिंग में असली गोली चलने का रहस्य अब तक नहीं सुलझ पाया है।



More from HomeMore posts in Home »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from फ़िल्मMore posts in फ़िल्म »
More from यू एस एMore posts in यू एस ए »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: