fbpx Press "Enter" to skip to content

मोदी के आह्वान पर तेनुघाट और आस पास के इलाकों में जनता कर्फ्यू

मिथलेश कुमार

वीडियो में देखे इस इलाके में जनता कर्फ्यू का असर

तेनुघाटः मोदी के आह्वान पर कोरोना वायरस से लड़ने के लिए तेनुघाट, पेटरवार,

गोमिया और कसमार की जनता भी जनता कर्फ्यू के लिए तैयार है। प्रधानमंत्री ने सुबह

सात बजे से रात नौ बजे तक जनता कर्फ्यू का आह्वान किया है। इसे सफल बनाने के

लिए जनता भी जुट गयी है। शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के लोग अपने-अपने घरों में सिमट

गये हैं। रोजमर्रा की तरह बाहर निकलने के बजाय लोग घरों में रहकर कोरोना के खिलाफ

लड़ाई में अपने-अपने हिस्से की लड़ाई लड़ रहे हैं। इससे सड़क, बाजार, बस स्टैंड जैसे हर

भीड़-भाड़ वाले जगहों पर सन्नाटा पसर गया है। इस दौरान पुलिस भी अपनी भूमिका में

पूरी तरह सतर्क नजर आयी। कुछेक इलाकों में लोग अगर अपने घरों से बाहर नजर भी

आये तो वे सिर्फ अपने अपने काम निपटाने के बाद तुरंत ही घरों के अंदर चले गये। बिना

किसी सरकारी नियंत्रण के लोगों का इस तरीके से अनुशासित होकर जनता कर्फ्यू का

पालन करना अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि रही।

मोदी के आह्वान की गंभीरता को हर किसी ने समझा

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर लोग अपने घरों पर ही हैं और शाम तक

रहेंगे। शाम पांच बजे वे अपने घरों की बालकनी से ही तालियां व घंटा आदि बजाकर उन

लोगों का अभिनंदन करेंगे जो कोरोना से जंग में शिद्दत से भूमिका निभा रहे हैं। जिसमें

चिकित्सक, नर्स, नगर निकाय के सफाई कर्मचारी, दवा दुकानदार, समाचार पत्र के हॉकर

शामिल हैं। ये लोग जनता कर्फ्यू के दिन भी काम करेगें। वहीं इन सभी का मनोबल बढ़ाने

के लिए पीएम ने उनका अभिनंदन करने की बात कही है। कोरोना के चक्र को तोड़ने के

लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता से इस जनता कर्फ्यू में अपने अपने स्तर से योगदान

देने की अपील की थी। जनता तक यह अपील सीधी पहुंची है। आज के घटनाक्रमों से

देखकर यह माना जा सकता है कि जनता ने इस अपील और उसकी गंभीरता को वाकई

समझा है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by