fbpx Press "Enter" to skip to content

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री ने मोरहाबादी मैदान में तिरंगा फहराया




  • 2020 तक पहुंच जाएगी गांव तक 24 घंटे बिजली की सुविधा
  • राज्य के सभी 68 लाख घरों तक बिजली पहुंचा दी गई
  • हमारा एक ही लक्ष्य है, झारखंड की सवा तीन करोड़ की जनता की सेवा
  • झारखंड में पहली बार कृषि अशीर्वाद योजना की शुरूआत

रांची: स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राजधानी रांची में झंडोत्तोलन का मुख्य कार्यक्रम मोरहाबादी मैदान में आयोजित किया गया।

वहां पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने तिरंगा फहराया किया।

इसके बाद परेड की सलामी ली। मुख्यमंत्री ने लोगों को संबोधित भी किया।

उन्होंने कहा- स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राज्य के सभी 68 लाख घरों तक बिजली पहुंचा दी गई है।

24 घंटे बिजली के लिए ग्रिड एवं सब-स्टेशन का निर्माण चल रहा है।

2020 तक 24 घंटे बिजली की सुविधा गांव तक पहुंच जाएगी।

शहरों एवं गांवों में स्ट्रीट लाइट लगाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा- 73वां

स्वतंत्रता दिवस हमारे लिए कई सौगात लेकर आया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने जम्मू एवं कश्मीर में

लागू धारा 370, 35अ को समाप्त कर दिया है।

सरकार के इस निर्णय से जम्मू एवं कश्मीर अब वास्तविक रूप में अखंड भारत का हिस्सा बन गया है।

मुख्यमंत्री रघवर दास ने कहा- हमारा एक ही लक्ष्य है, झारखंड की सवा तीन करोड़ की जनता की सेवा।

हमें सवा तीन करोड़ भाइयों-बहनों की जिंदगी में खुशहाली लाना है, उन्हें समृद्ध बनाना है।

उन्होंने कहा- सरकार की मजबूत इच्छा शक्ति और जनता के सकारात्मक सहयोग से

आज हमारा झारखड तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है।

पिछले पांच वर्षों में झारखंड में गरीबी के बहुआयामी सूचकांक में तेजी से कमी आई है।

उन्होंने कहा- यूएनडीपी की रिपोर्ट के अनुसार पूरे विश्व मे तेजी से गरीबी कम होने वाले

विभिन्न देशों के राज्यों में भारत का झारखंड सबसे ऊपर है।

रिपोर्ट के अनुसार, गरीबी की व्यापकता में 4।8 प्रतिशत और गरीबी की गहनता में

2।4 प्रतिशत प्रति वर्ष की दर से कमी आई है।

 झारखंड की अर्थ-व्यवस्था अब मजबूती की ओर बढ़ रही है।

मैं झारखंड के किसानों को बधाई देना चाहता हूं, जिनकी मेहनत से

पिछले पांच साल में कृषि विकास दर में 19 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

झारखंड के इतिहास में पहली बार कृषकों के लिए मुख्यमंत्री कृषि अशीर्वाद योजना की शुरूआत की गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा- हम राज्य के सभी शहरी एवं ग्रामीण बस्तियों में अगले तीन वर्षों में

स्वच्छ पेयजल मुहैया कराने के लिए कृत संकल्पित हैं।

केंद्र प्रायोजित योजना के तहत ही दुमका, हजारीबाग एवं पलामू में

नव-निर्मित मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के भवन का उद्द्याटन किया जा चुका है।

कोडरमा एवं चाईबासा में मेडिकल कॉलेज की स्थापना के लिए 250 कराड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं।

उन्होंने कहा- रक्षा बंधन के मौके पर हमारी सरकार ने अपनी बहनों को तोहफा देते हुए

दूसरा गैस सिलेंडर भी मुफ्त में देने का निर्णय लिया है,जो जन्माष्टमी के मौके पर 23 अगस्त से शुरू होगा।

राज्य के पत्रकारों की सुविधा के लिए अगले माह से पत्रकार पेंशन योजना का शुभारंभ भी किया जाएगा।

उन्होंने कहा हम सब जानते हैं कि यह आजादी हमें सस्ते में नहीं मिली है।

राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी, सरदार वल्लभ भाई पटेल, वीर सावरकर, पंडित दीनदयाल उपाध्याय,

डॉ। राजेन्द्र प्रसाद, पंडित जवाहरलाल नेहरू, मौलाना अबुल कलाम आजाद,

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, शहीद भगत सिंह के साथ झारखण्ड के वीर सपूतों भगवान बिरसा मुण्डा,

वीर सिदो-कान्हू सहित आजादी के अहिंसात्मक आंदोलन में लाखों नर-नारियों को

कारावास की यातनाएँ भी सहनी पड़ी।

हजारों क्रांतिकारियों ने हँसते-हँसते फाँसी का तख्ता चूमकर अपने प्राणों का बलिदान दिया।

हमारी आजादी इन सभी ज्ञात-अज्ञात शहीदों और स्वतंत्रता सेनानियों की देन है।

रक्षा बंधन का भी त्योहार है। स्नेह की शक्ति एक साधारण कच्चे धागे को भी अटूट रिश्ते में बदल देती है।

इस मौके पर सभी झारखण्ड वासियों को, विशेषकर बहनों को शुभकामनाएं देता हूँ।

 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •