fbpx Press "Enter" to skip to content

ऑयल इंडिया लिमिटेड के गैस के कुंए में विस्फोट

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी: ऑयल इंडिया लिमिटेड (ऑयल) के असम स्थित गैस के कुंए में बुधवार को

विस्फोट (ब्लोआउट) हुआ। इसके बाद तिनसुकिया जिले में संयंत्र के आसपास के इलाके

को खाली कराना शुरू कर दिया गया। अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है।

कंपनी ने कहा कि कुंए से प्राकृतिक गैस के अचानक अनियंत्रित तरीके से बाहर निकलने

के बाद परिचालन रोक दिया गया है। हालांकि अभी यह स्प्ष्ट नहीं है कि विस्फोट के साथ

कुंए में आग लगी है या नहीं। कंपनी ने कहा, ‘बुधवार 29 मई को सुबह साढ़े दस बजे के

करीब तिनसुकिया जिले में बागजान तेलक्षेत्र के तहत आने वाले बागजान-5 कुंए में

अचानक से बहुत हलचल देखी गई। उस समय वहां गैस उत्पादन का काम चालू था।’

ऑयल ने कहा कि कुंए में विस्फोट को नियंत्रित करने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी का

छिड़काव किया गया है। साथ ही ब्लोआउट को रोकने वाली प्रणाली को लगाया गया है।

कुंए के आसपास वाले इलाके से स्थानीय लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

तेल एवं गैस क्षेत्र में जब कभी कुंए के अंदर दबाव अधिक हो जाता है तो उसमें अचानक से

विस्फोट होता है और कच्चा तेल या प्राकृतिक गैस अनियंत्रित तरीके से बाहर आने लगती

है। इसे ही ब्लोआउट कहा जाता है। यह स्थिति कुंए के अंदर दबाव बनाए रखने वाली

प्रणाली के सही तरीके से काम नहीं करने के चलते बनती है।

ऑयल इंडिया लिमिटेड के विस्फोट पर असम के मुख्यमंत्री सोनोवाल ने की केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से चर्चा

इस बीच, असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने आज केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र

प्रधान को बाघजन, तिनसुकिया में तेल क्षेत्र में गैस विस्फोट की घटनाओं से अवगत

कराया। सोनोवाल ने प्रधान से आग्रह किया कि स्थिति को संभालने के लिए तत्काल

सुधारात्मक उपाय किए जाएं। असम के मुख्यमंत्री ने मिश्रा से आग्रह किया कि वे तेल के

विस्फोट के आसपास के क्षेत्र में सार्वजनिक स्वास्थ्य की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए

तत्काल कदम उठाएं जबकि किसी भी तरह के नुकसान को रोकने के लिए जल्द से जल्द

गैस रिसाव को रोका जाए। केंद्रीय मंत्री ने इस संबंध में हर संभव सहयोग का आश्वासन

दिया। सोनोवाल ने ओआईएल के सीएमडी सुशील चंद्र मिश्रा से भी बात की और गैस

विस्फोट की घटनाओं से उत्पन्न स्थिति पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने असम प्रदूषण

नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष वाई सूर्यनारायण को भी घटना स्थल का दौरा करने का निर्देश

दिया। सभी अधिकारी घटनास्थल का दौरा कर राज्य सरकार को अपनी रिपोर्ट देंगे


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from असमMore posts in असम »
More from कामMore posts in काम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

One Comment

Leave a Reply