fbpx Press "Enter" to skip to content

ओबरा में कोरोना के डर से दो विदेशी कर्मचारियों घर में बंद

सोनभद्रः ओबरा में दक्षिण कोरिया की दुसान पवार सिस्टम कंपनी द्वारा उत्तर प्रदेश के

सोनभद्र में ओबरा में बनाई जा रही 1320 मेगावाट की ‘सी’ परियोजना के दो कर्मचारियो

के कोरिया से यहां आने के बाद कोरोना वायरस के डर से 15 दिन तक उनके आवास से

बाहर आने पर प्रतिबंध लगा दिया है। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि साइड इंचार्ज बीसी किम ने सुरक्षा की दृष्टि से कई कोरियन

अधिकारियों की छुट्टी भी निरस्त कर देने से हड़कंप मचा है। उन्होंने बताया कि 25 व 26

फरवरी को दक्षिण कोरिया से डॉन किम उम्र लगभग 53 वर्ष तथा डेनम किम उम्र लगभग

32 वर्ष ओबरा वापस आए हुए है। उन्होंने बताया कि कोरिया से आये दोनों व्यक्तियो को

एहतियात के रूप में कोरोना वायरस की डर से ओबरा परियोजना क्षेत्र के सेक्टर नौ स्थित

उनके आवास में ही रखा गया है। हालांकि दुसान पवार कंपनी के एच आर मैनेजर लाल

बाबू झा ने बताया कि दोनो कर्मचारियों को फ्लाइट से नई दिल्ली व वाराणसी एयर पोर्ट

पर आने पर दोनों का मेडिकल चेकअप एयर पोर्ट पर ही किया गया जिसमे दोनो निगेटिव

पाए गए है। लेकिन कोरोना वायरस एक सप्ताह के बाद ही उसके लक्षण दिखाई देते है,

इसलिए एहतियात के तौर पर 15 दिनों के लिए दोनो कर्मचारियों को आवास से बाहर

निकलने पर प्रतिबंध लगाया गया है।

ओबरा के दोनों विदेशी स्वस्थ हैं और घर से काम कर रहे हैं

दोनो कर्मचारी स्वस्थ्य रहते हए अपने आवास से ही कम्प्यूटर पर कार्य कर रहे है। श्री झा

ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए दुसान कंपनी के अधिकारियों

ने बुधवार को सभी कर्मचारियों को हैंड सेनेटाइजर व नोज मास्क वितरित करते हुए जगह

जगह बैनर लगाकर सभी कर्मचारियों को कम से कम दिन में 5 बार सेनेटाइजर का प्रयोग

करने व नोज मास्क पहनने की हिदायत दिया है। गौरतलब है कि 1320 मेगावाट की

ओबरा ‘सी’ परियोजना में दक्षिणी कोरिया के लगभग कुल चार दर्जन कर्मचारी व

अधिकारी मिलकर कार्य कर रहे है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »

Be First to Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by