fbpx Press "Enter" to skip to content

देश में कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या 664 हुई

नयी दिल्लीः देश में कोरोना पाजिटिव यानी ‘कोविड-19’ के संक्रमण से अब तक 16

लोगों की मौत हो चुकी है जबकि संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 664 हो गयी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय की बुधवार की रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस का प्रकोप देश के

25 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में फैल चुका है और इसके 664 मामलों की पुष्टि हो

चुकी है। कोरोना वायरस के संक्रमण से देशभर में अब तक 16 लोगों की मौत हुई है

जबकि 43 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली, कर्नाटक, राजस्थान,

पंजाब, उत्तर प्रदेश, गुजरात, तेलंगाना और लद्दाख में अभी तक सबसे अधिक संक्रमण

के मामले सामने आये हैं। कोरोना महामारी से महाराष्ट्र और गुजरात दो, दिल्ली,

कर्नाटक, बिहार, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल में एक-एक

व्यक्ति की मौत हो चुकी है। मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस ‘कोविड-19’ से संक्रमित

उज्जैन निवासी एक महिला की आज मृत्यु हो गयी। राज्य में इससे प्रभावितों की

संख्या 26 हो गई है।

देश में कोरोना पीड़ितों की राज्यवार स्थिति 25 मार्च तक 

राज्य संक्रमण ठीक हुए मौत
महाराष्ट्र 128 01 2
केरल 118 04
कर्नाटक 51 3 1
तेलंगाना 41 01
गुजरात 38 00 02
राजस्थान 38 03 00
उत्तर प्रदेश 38 11 00
दिल्ली 35 06 01
हरियाणा 31 11 00
पंजाब 31 00 01
तमिलनाडु 26 01 01
मध्य प्रदेश 15 00 00
लद्दाख 13 00 00
जम्मू और कश्मीर 11 01 01
आंध्र प्रदेश 10 01 00
पश्चिम बंगाल 10 00 01
चंडीगढ़ 07 00 00
उत्तराखंड 05 00 00
बिहार 04 00 01
छत्तीसगढ़ 03 00 00
गोवा 03 00 00
हिमाचल प्रदेश 03 00 01
ओडिशा 02 00 00
मणिपुर 01 00 00
मिजोरम 01 00 00
पुडुचेरी 01 00 00
कुल 664 43 11

इन तमाम आंकड़ों की वजह से देश में कोरोना पीड़ितों के साथ साथ संक्रमण के प्रभाव

पर लगातार नजर रखने की आवश्यता महसूस की जा रही है। इस बात की आशंका

पहले से ही व्यक्त कर दी गयी है कि देश के भीतर जो संक्रमण फैला है, उसका असर

आनेवाले दो सप्ताह में देखने को मिल सकता है। सरकार और चिकित्सा जगत इसी

बात को लेकर लगातार लोगों को एक दूसरे से अलग रहने और भीड़ एकत्रित नहीं करने

की सलाह दे रहा है। ताकि अगर अब भी किसी में इसका प्रकोप है तो उस संक्रमण से

दूसरों को बचाया जा सके। यह भी स्पष्ट होता जा रहा है कि देश में कोरोना पॉजिटिव

मरीजों में से बहुत से लोगों ने अपने बारे में जानकारी छिपायी है। इसी गड़बड़ी की वजह

से दूसरे लोग इसकी चपेट में आये हैं।

दिल्ली के डाक्टर का उदाहरण सबसे ताजा

इसका ताजा उदाहरण दिल्ली के मुहल्ला क्लीनिक का वह डाक्टर और उसका परिवार

है। सऊदी अरब से आयी एक महिला की जांच करने में डाक्टर संक्रमण का शिकार हो

गया। अब उन आठ सौ लोगों को सतर्क रखा गया है, जो उसके बाद इस डाक्टर के

संपर्क में आये थे।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

Open chat
Powered by