fbpx Press "Enter" to skip to content

अब संक्रमण बढ़ने की वजह से झारखंड में हो सकता है फैसला

  • मुख्यमंत्री ने पत्रकारों को इसके दिये संकेत

  • निर्णय से पहले सबकी राय जान लेना जरूरी

  • दिल्ली के मुद्दे पर भी आपसी विचार से होगा फैसला

संवाददाता

रांचीः अब संक्रमण बढ़ने की वजह से न चाहते हुए भी सरकार को कड़ा फैसला लेना पड़

सकता है। वैसे अंदरखाने से मिल रहे संकेतों के मुताबिक इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री हेमंत

सोरेन आनन फानन में कोई फैसला नहीं लेना चाहते हैं। वे इस मुद्दे पर सभी जन

प्रतिनिधियों की राय भी ले रहे हैं। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पत्रकारों से कहा है कि कोरोना

संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है इसको देखते हुए जांच की जो प्रक्रिया बढाई गई है, साथ ही

साथ यातायात के जो संसाधन थे उसे फिलहाल के लिए बंद कर दिया गया है। इसके बाद

भी कोरोना संक्रमण के बढ़ने की खबरें आ रही है। उस रिपोर्ट को देखते हुए 22 जुलाई को

कैबिनेट की जो बैठक है उस बैठक में सभी विधायकों का जो सुझाव आएगा। उस पर

निर्णय लिया जाएगा । जहां तक प्रधानमंत्री द्वारा सभी मुख्यमंत्री से मांगे गए सुझाव है

उस पर भी निर्णय 22 जुलाई को ही मंत्री परिषद की बैठक में ली जाएगी।उसके बाद ही

कुछ आगे कहा जा सकता है।

अब संक्रमण बढ़ने के बीच आज भी 178 मामले आये

झारखंड में सोमवार को 178 कोरोना के मरीज सामने आए हैं जिसमें बोकारो 4 चतरा 0

धनबाद 27 देवघर 1 दुमका 0 पूर्वी सिंहभूम 3 गढ़वा 35 गिरिडीह 9 गोड्डा 0 गुमला 5

हजारीबाग 4 जामताड़ा 0 खुंटी 0 कोडरमा 1 लातेहार 0 लोहरदगा 1 पाकुड़ 9 पलामू 3

रामगढ़ 4 रांची 71 साहेबगंज 1 सरायकेला 0 सिमडेगा 0 पश्चिम सिंहभूम 0 मरीज

शामिल है। राज्य में कुल मरीजों की संख्या 5777 हो गया है।

सोमवार को पूरे राज्य में 7073 लोगों की जांच की गई जिसमें 178 कोरोना संक्रमित पाए

गए। इसके अलावा 5474 सैंपल का कलेक्शन किया गया। 20 जुलाई तक पूरे राज्य में

235903सैंपल का कलेक्शन किया जा चुका है जिसमें से 222781 सैंपल की जांच हो चुकी

है। वहीं अब तक कुल संक्रमित ओं की संख्या 5777 है। अब तक राज्य में कोरोना से 53

लोगों की जान जा चुकी है। 20 जुलाई को चार की मौत भी कोरोना से हुई है। सोमवार को

117 लोग इलाज के बाद अस्पताल से घर पहुंच चुके हैं। अब तक राज्य में कोरोना संक्रमण

से स्वस्थ होने वालों की संख्या 2835 हो गई है। झारखंड में कोरोना से रिकवरी रेट 49.07

है। मरीजों की संख्या बढ़ने से यह तुलनात्मक स्थिति काफी बिगड़ी है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!