Press "Enter" to skip to content

अब जीतन राम मांझी ने नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपनी जुबान खोली, कहा

Spread the love



  • फोटो लगाने का इतना ही शौक है तो कोरोना डेथ सर्टिफिकेट पर भी लगाएं
  • वैक्सीन सर्टिफिकेट पर स्थानीय मुख्यमंत्री और राष्ट्रपति की भी फोटो होनी चाहिए

पटना: अब जीतन राम मांझी ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ बयान दिया है। यूं




तो सत्तारूढ़ गठबंधन में शामिल पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी शीर्ष नेताओं पर तंज

कसने का कोई भी मौका नहीं छोड़ते हैं। जब वह महागठबंधन में थे तो उनके निशाने पर

सीधे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रहते थे। अब जब वह भाजपा जदयू गठबंधन में शामिल हैं,

उनके पुत्र मंत्री बन चुके हैं। बावजूद उसके जीतन राम मांझी अपने गठबंधन के शीर्ष

नेताओं के विरुद्ध भी टीका-टिप्पणी करने से बाज नहीं आते हैं। अबकी बार उन्होंने

प्रधानमंत्री नरेंद्र कुमार मोदी को निशाने में लेकर टिप्पणी कर दी है। इसका कारण है कि

कोरोना वैक्सीन के प्रमाण पत्र पर प्रधानमंत्री का फोटो होना। इस फोटो को देखकर

जानकार सूत्रों का कहना है कि मांझी बिल्कुल जलभुन कर राख हो गए और उन्होंने

तत्काल ही टीका-टिप्पणी शुरू कर दिया। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कोरोना

वैक्सीन के बाद दिए जाने वाले प्रमाण पत्र पर सवाल उठाए हैं। दरअसल उन्हें आपत्ति इस

बात से है की प्रमाण पत्र पर सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर क्यों लगी है।

हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के मुखिया ने रविवार को गया के महकार स्थित सामुदायिक

स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज ली थी। जिसके बाद उन्हें




सर्टिफिकेट मिला और अब उस पर उन्होंने सवाल खड़ा कर उन्होनें इसे सियासी रंग दे

दिया। वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद जीतन राम मांझी को वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र

दिया गया, जिस पर पीएम की तस्वीर लगी थी। इसी तस्वीर पर जीतन राम मांझी ने

ट्वीट कर आपत्ति जताई।

अब जीतन राम मांझी ने हर जगह उनकी तस्वीर पर सवाल उठाये

मांझी ने सवाल खड़े करते हुए कहा कि को-वैक्सीन का दोनों डोज लेने के बाद मुझे प्रमाण

पत्र दिया गया, जिसमें प्रधानमंत्री की तस्वीर लगी है। संवैधानिक संस्थाओं के सर्वे सर्वा

राष्ट्रपति है। इस के नाते वहां राष्ट्रपति की तस्वीर लगनी चाहिए। साथ ही उन्होंने तंज

कसते हुए कहा कि अगर तस्वीर लगानी है तो स्थानीय मुख्यमंत्री की भी तस्वीर हो।

इसके अलावा उन्होंने सोमवार की सुबह एक और ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने सीधे तौर

पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा है कि अगर वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट पर

तस्वीर लगाने का इतना ही शौक है, तो कोरोना से हो रही मृत्यु के डेथ सर्टिफिकेट पर भी

उनकी तस्वीर लगाया जाना न्याय संगत होगा। मांझी के इस बयान की भाजपा खेमे में

तीखी प्रतिक्रिया हुई है। भाजपा के शीर्ष नेताओं ने मांझी से संयम बरतने और उल्टे सीधे

बयानों से बाज आने की नसीहत दी है।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बयानMore posts in बयान »

Be First to Comment

Leave a Reply