fbpx Press "Enter" to skip to content

खौफ पैदा करने के लिए अमन सिंह ने रची थी जेलर की हत्या की साजिश

  • अभिनव को दिया था हत्या की जिम्मेवारी

  • धनबाद के नीरज सिंह की हत्या में खुद था शामिल

  • लखनऊ से अभिनव सिंह को किया गया था गिरफ्तार

  • यूपी एसटीएफ से झारखंड पुलिस ने मदद मांगी थी

रांची: खौफ पैदा कर अपने साम्राज्य को बढ़ाने के मकसद से ही कुख्यात अपराधी अमन

साव काम किया करता था। होटवार जेल में बंद डिप्टी मेयर नीरज सिंह का हत्या करने

वाला शूटर अमन सिंह ने रची थी जेलर की हत्या की साजिश। अमन सिंह से जेल ही हत्या

की साजिश रची थी। अमन सिंह जेलर की हत्या कर रांची में खौफ पैदा करना चाहता था।

अमन जेलर के हत्या की जिम्मेवारी अभिनव सिंह को दिया था। शुक्रवार को धनबाद

पुलिस ने अमन सिंह और अभिनव सिंह को रिमांड पर लिया था। अमन सिंह ने पूछताछ

के दौरान बताया कि धनबाद जेल से रांची जेल शिफ्ट होने के बाद वहां के जेलर से विवाद

हो गया। जिसके बाद अमन सिंह से जेल में रहते हुए जेलर की हत्या करने का प्लान किया

था। और जेलर के हत्या की जिम्मेवारी अपने करीबी अभिनव सिंह को दिया था। इस

साजिश के पीछे रांची में खौफ पैदा करना था। ताकि अमन गिरोह को रंगदारी मिल सके।

पिछले कुछ महीनों से रांची और धनबाद के कारोबारी और कोल कंपनियों से रंगदारी मांगी

जा रही थी। रंगदारी नहीं देने पर हत्या और हत्या का प्रयास जैसी घटनाएं को अंजाम दिया

गया था। वर्चुअल नंबर से रंगदारी मांगी जा रही थी। जिस वजह से अपराधियों तक

पहुंचना पुलिस के लिए मुश्किल हो रहा था। मामले की छानबीन के दौरान धनबाद और

रांची जेल में बंद उत्तर प्रदेश के अपराधी अमन सिंह और धर्मेंद्र प्रताप सिंह उर्फ रिंकू के

द्वारा इन घटनाओं को उत्तर प्रदेश के शूटर के माध्यम से कराए जाने की जानकारी हुई।

खौफ पैदा करने में कोयले पर कब्जा का प्रयास भी था

जिसके बाद झारखंड स्पेशल ब्रांच के एडीजी मुरारी लाल मीणा के द्वारा उत्तर प्रदेश

एसटीएफ को इस घटना में शामिल आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए सहयोग करने का

अनुरोध किया गया था। जिसके बाद यूपी एसटीएफ ने लखनऊ से अभिनव सिंह को

गिरफ्तार कर लिया था। जिसके बाद धनबाद पुलिस ने उसे धनबाद लाया था। अमन सिंह

कोल क्षेत्र में वर्चस्व जमाने के लिए यूपी और झारखंड के अपराधियों ने बनाया है गिरोह।

धनबाद के डिप्टी मेयर नीरज सिंह हत्याकांड के आरोप में जेल में बंद अमन सिंह झारखंड

कोल क्षेत्र में अपना वर्चस्व स्थापित करने के लिए झारखंड और उत्तर प्रदेश के

अपराधियों का एक संगठित गिरोह बनाया है। अभिनव सिंह और अन्य अपराधी आपस में

इंटरनेट कॉलिंग के माध्यम से संपर्क में रहकर धनबाद और रांची में अपराधिक घटनाओं

को अंजाम दे रहे हैं। अभिनव सिंह के द्वारा गैंग को संचालित किया जा रहा था।

ढुल्लू महतो के सहयोगी राजेश गुप्ता को मारने की भी थी साजिश

अभिनव सिंह ने खुलासा किया है कि अमन सिंह के कहने पर उसने अपने साथी रवि

ठाकुर के साथ विधायक ढुल्लू महतो के करीबी राजेश गुप्ता की तीन दिन लगातार रेकी

कर जान से मारने की कोशिश की थी। लेकिन अधिक भीड़ के कारण सफलता नहीं मिली

तो उसके घर पर बम से हमला किया था। ढुल्लू महतो की धनबाद में कोयले की रैक

लगती है। अमन सिंह भी कोयले का रैक लगवा रहा था। परंतु ढुल्लू महतो ने नहीं लगने

दिया जिस कारण सबक सिखाने के लिए राजेश गुप्ता पर हमला कराया गया था। इसके

अलावा अभिनव सिंह के द्वारा अंबे कोल कंपनी के जीएम की कार उसकी गाड़ी पर

फायरिंग की गई थी और गोविंदपुर में पेट्रोल पंप पर फायरिंग किया गया था। इसके

अलावा कारोबारी राजेश कुमार सिंह से रंगदारी मांगने की घटना को अंजाम दिया था।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from उत्तरप्रदेशMore posts in उत्तरप्रदेश »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धनबादMore posts in धनबाद »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: