fbpx Press "Enter" to skip to content

हरियाणा की मंडियों में 50 से ज्यादा किसान प्रवेश नहीं करेंगे

चंडीगढ़ः हरियाणा की मंडियों के लिए सरकार ने नये नियम बनाये हैं।

यह कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए लागू

किया गया है। हरियाणा सरकार ने रबी खरीद सीजन के दौरान सरसों और गेहूं की खरीद को

आसान बनाने और मंडियों में भीड़ कम करने के लिए एक समय में किसानों के प्रवेश की

सीमा 50 किसानों तक  सीमित करने का निर्णय लिया है।

राज्य के कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के एक प्रवक्ता ने इस सम्बंध में विस्तृत

जानकारी देते हुए बताया कि यह निर्णय कोरोना वायरस की महामारी के मद्देनजर

सोशल डिस्टेंसिंग के मानदंडों को बनाए रखने के लिए लिया गया है।

राज्य में गेहूँ, सरसों और चना फसलों की रबी सीजन की खरीद 15 अप्रैल से आरंभ होगा और 30 जून, 2020 तक जारी

रहेगा। किसानों को मंडियों में दो टाइम स्लॉट-सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक और दोपहर ढाई बजे से शाम छह

बजे तक जाने की अनुमति होगी। प्रवक्ता के अनुसार हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड ने खरीद के सुचारू संचालन

और खरीद कार्यों में शामिल सभी हितधारकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

उन्होंने बताया कि मंडियों में भीड़ को कम करने के लिए, रबी खरीद सीजन 2020-21 में गेहूं की खरीद 20 अप्रैल तथा

सरसों और चना की 15 अप्रैल, 2020 से शुरू की जाएगी।

हरियाणा की मंडियों में भीड़ ना लगे इसलिए व्यवस्था

खरीद को नियंत्रित करने और मंडियों में भीड़ इकठ्ठी न हो इसके लिए मार्किट कमेटी यह सुनिश्चित करेगी कि सभी

कृषि उत्पाद अर्थात गेहूं, सरसों, और चना को ऑनलाइन ई-गेट पास के जारी होने पर ही मंडी में प्रवेश दिया जाए और

यह पास केवल ‘मेरी फÞसल-मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर पंजीकृत और सत्यापित किसानों को जारी किया जाएगा। प्रवक्ता

ने बताया कि प्रदेश के जो किसान अभी ‘मेरी फसल-मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर पंजीकृत नहीं हैं, वे 19 अप्रैल, 2020 तक

पंजीकरण के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा, अन्य राज्य के किसानों की उपज आगामी दिशा-निर्देशों के

जारी होने तक नहीं खरीदी जाएगी।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!