Press "Enter" to skip to content

देश के पूर्वोत्तर में कांपी धरती, 48 घंटों में छठां भूकंप का झटका

  • राष्ट्रीय खबर

गुवाहाटी : देश के पूर्वोत्तर राज्यों में बीते दिनों से लगातार भूकंप के झटके महसूस किए

जा रहे हैं। रविवार आधी रात के बाद अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर में एक के बाद भूकंप

आया। बीते 48 घंटों के दौरान उत्तर पूर्वी राज्यों में यह 6वां झटका है। अभी तक जान-

माल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है। देश के 3 पूर्वोत्तर राज्यों में अलग-अलग समय

पर भूकंप के झटके महसूस किए गए। इसमें असम के तेजपुर, मणिपुर के चंदेल और

मेघालय के पश्चिम खासी हिल्स के इलाके शामिल हैं। ये जानकारी नेशनल सीस्मोलॉजी

ने दी है। जानकारी के मुताबिक, मेघालय के पश्चिम खासी हिल्स में सुबह 4.20 बजे भूकंप

के झटके महसूस किए गए। इसकी तीव्रता रिएक्टर स्केल पर 2:6 मापी गई। असम के

तेजपुर में देर रात दो बजे के आसपास भूकंप आया। इस यहां इसकी सबसे ज्यादा तीव्रता

4.1 मापी गई। मणिपुर के मोइरांग में देर रात 1:06 बजे 3.04 तीव्रता के भूकंप के झटके

महसूस किए गए। रविवार आधी रात के बाद एक बजकर 2 मिनट पर अरुणाचल प्रदेश में

3.1 तीव्रता का झटका महसूस किया गया। भूकंप का केंद्र अरुणाचल के पंजिन से 95

किलोमीटर उत्तर पश्चिम में जमीन से 17 किलोमीटर की गहराई में रहा। इसके 20

मिनट के बाद ही मणिपुर के शिरुई के पास भी भूकंप का झटका आया, जिसकी तीव्रता

रिक्टर स्केल पर 3.6 रही। इससे पहले असम में शनिवार आधी रात के बाद 4.2 तीव्रता के

भूकंप के झटके महसूस किए गए। जान-माल के किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है।

देश के पूर्वोत्तर में छह झटकों से लोग घबड़ाये पर नुकसान नहीं

देर रात एक बजकर 7 मिनट पर आए भूकंप का केंद्र तेजपुर से 39 किलोमीटर पश्चिम में

जमीन से 30 किलोमीटर की गहराई में रहा। उससे ठीक एक दिन पहले 3 अलग राज्यों में

झटके आए थे। वहीं शुक्रवार की आधी रात के बाद मणिपुर के चंदेल इलाके में एक बजकर

6 मिनट पर आए भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3 मापी गई। इसका केंद्र मोइरांग से

39 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में म्यांमार की सीमा के पास जमीन से 10 किलोमीटर की

गहराई में रहा। इसके करीब एक घंटे के बाद 2 बजकर 4 मिनट पर असम के सोनितपुर में

4.1 तीव्रता का झटका महसूस किया गया। वहीं 2.6 तीव्रता का तीसरा झटका मेघालय के

वेस्ट खासी हिल्स में 4 बजकर 20 मिनट पर आया।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from उत्तर पूर्वMore posts in उत्तर पूर्व »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पर्यावरणMore posts in पर्यावरण »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
Exit mobile version