fbpx Press "Enter" to skip to content

उत्तर पूर्वी दिल्ली हिंसा में मृतकों की संख्या 22 हुई, हालात तनावपूर्ण

नयी दिल्लीः उत्तर पूर्वी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ फैली

हिंसा में अब तक मृतकों की संख्या 22 हो गई है। इलाके में धारा 144 लगे होने के बावजूद

भी गोकुलपुरी में आज सुबह कुछ उपद्रवियों ने एक दुकान में आग लगा दी। पूरे जिले में

अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है और पुलिस के आला अफसर लगातार

हालात पर नजर बनाए हुए हैं लेकिन हालात अब भी तनावपूर्ण बना हुआ है। गुरू तेग

बहादुर अस्पताल के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट सुनील कुमार गौतम के अनुसार 189 घायल

लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया जिसमें से 20 लोगों की मौत हो चुकी है।

अस्पताल सूत्रों ने बताया कि दस से अधिक लोगों की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है।

इससे मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने

उत्तर पूर्वी दिल्ली के कुछ इलाकों की स्थिति को गंभीर बताते हुए लोगों में विश्वास पैदा

करने के लिए सेना तैनात करने की मांग की है । श्री केजरीवाल ने आज ट्वीट कर कहा कि

हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में तुरंत कर्फ्यू लगाया जाना चाहिये । उन्होंने कहा कि वह इस संबंध

में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिख रहे हैं । श्री केजरीवाल ने कहा कि वह रात

भर बड़ी संख्या में लोगों के सम्पर्क में थे। स्थिति बेहद गंभीर है।

उत्तर पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में आज भी तोड़फोड़

पुलिस के तमाम प्रयासों के बावजूद स्थिति नियंत्रित नहीं हो रही है। गौरतलब है कि

रविवार को भाजपा के नेता कपिल मिश्रा के भड़काऊ भाषण और मामूली पथराव के बाद

सोमवार को दिन भर पूरे जिले में हिंसक घटनाएं होती रही। शोरूम से बड़ी छोटी दुकानों में

आग लगा दी गयी। एक पेट्रोल पंप को भी आग के हवाले कर दिया गया। गोकुलपुरी में

टायर मार्केट में आग लगा दी गयी जिसे बुझाने में दमकलकर्मियों को काफी मशक्कत

करनी पड़ी। इस मार्किट की करीब सभी दुकानें जलकर खाक हो गई

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

One Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by