fbpx Press "Enter" to skip to content

स्कूल नहीं तो फ़ीस नहीं की माँग पर अभिभावकों ने किया सांकेतिक प्रदर्शन

प्रतिनिधि

जमशेदपुरः स्कूल नहीं तो फ़ीस नहीं की माँग को लेकर जमशेदपुर के विभिन्न प्राइवेट

स्कूलों से जुड़े अभिभावकों ने सोमवार जिला शिक्षा अधीक्षक कार्यालय पर सांकेतिक

प्रदर्शन किया। झारखंड अभिभावक संघ और शिक्षा सत्याग्रह के संयुक्त तत्वावधान में

काफ़ी संख्या में अभिभावकों ने एकजुट होकर निज़ी स्कूलों की दमनकारी फ़ीस वसूली पर

रोक लगाने का माँग किया। कई स्कूलों से जुड़े अभिभावकों ने कहा कि निज़ी स्कूलों ने

उन्हें एटीएम मशीन समझ रखा है और कई प्रकार के गैर वाज़िब शुल्क उनपर थोपे जा रहे

हैं। पेरेंट्स ने अगस्त तक स्कूल खुलने की संभावनाओं पर भी चिंता जताते हुए जिला

प्रशासन से माँग किया कि जबतक कोरोना वायरस की वैक्सीन और दवा नहीं बन जाती

तबतक वे अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजने वालें। माँगों के समर्थन में जिला शिक्षा

अधीक्षक विनीत कुमार से मिलकर अभिभावकों के प्रतिनिधि मंडल ने ज्ञापन सौंपकर

अविलंब आदेश जारी करने का आग्रह किया। इस आशय में झारखंड अभिभावक संघ की

पूर्वी सिंहभूम जिलाध्यक्ष डॉ. पुष्पा श्रीवास्तव ने कहा कि सरकार के स्तर से फ़ीस के

विषय पर कोई स्पष्ट आदेश जारी नहीं हुए। इसका लाभ निज़ी स्कूल प्रबंधन उठा रहे हैं।

कहा कि कई स्कूलों का फ़ीस वसूलने के रैवया तानाशाही दर्शाता है। अभिभावकों को

मैसेज और कॉल के माध्यम से धमकियाँ दी जा रही है। बच्चों की परीक्षाएं रोकने और

स्कूल से हटाने की धमकियां अनुचित है और रंगदारी माँगने जैसा है। शिक्षा सत्याग्रह के

संस्थापक सदस्य अप्पु तिवारी ने कहा कि लॉकडाउन में अभिभावक वित्तीय कठिनाई से

जूझ रहे हैं। कईयों के रोज़गार छिन गए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार अविलंब ठोस आदेश

जारी करते हुए अभिभावकों को राहत दिलाये ताकि फ़ीस को लेकर जारी गतिरोध पर

विराम लगे।

स्कूल नहीं तो फीस नहीं वर्तमान हालात को देखकर जायज

इधर ज्ञापन सौंपने पहुँचें प्रतिनिधिमंडल को पूर्वी सिंहभूम के जिला शिक्षा अधीक्षक ने

बताया कि फ़ीस के संदर्भ में शिक्षा मंत्री और सरकार के स्तर से हस्तक्षेप हुआ है। जल्द ही

उचित आदेश और अधिसूचना जारी होने की संभावना है। उन्होंने आश्वस्त किया कि

अभिभावकों द्वारा प्राप्त माँग पत्र के आलोक में उनके स्तर से जिलांतर्गत सभी कोटि के

निज़ी स्कूलों को ज़बरन फ़ीस नहीं वसूलने और अन्य विषयों पर आदेश जारी कर दिया

जाएगा।

प्रदर्शन में इन स्कूलों से जुड़े अभिभावक प्रतिनिधि उपस्थित थे। डीएवी बिष्टुपुर,

डीबीएमएस स्कूल, लोयोला स्कूल, केरला समाजम स्कूल, हिल टॉप, एग्रिको तारापोर

स्कूल, एसकेपीएस स्कूल, माउंट लिटेरा ज़ी स्कूल, गुलमोहर स्कूल टेल्को, जुस्को स्कूल

साउथ पार्क, चिन्मया विद्यालय बिष्टुपुर, श्रीकृष्ण पब्लिक स्कूल, विद्या भारती

चिन्मया विद्यालय, शिक्षा निकेतन, राजेंद्र विद्यालय, कदमा जुस्को स्कूल, विवेक

विद्यालय छोटा गोविंदपुर, मोतीलाल नेहरू पब्लिक स्कूल, रामकृष्ण मिशन स्कूल,

डीएसएम स्कूल, वैली व्यू स्कूल।

इस प्रदर्शन में विजय तिवारी, अप्पु तिवारी, अंकित आनंद, डॉ. पुष्पा श्रीवास्तव, प्रवीण

प्रसाद, शादाब खान, संजीव कुमार, अमित नंदी, मनोज कुमार, प्रकाश कुमार, सच्चिदानंद

सिंह, मुकुल पोद्दार, रवि सोनकर, सुमित गोपाल, दीपक यादव, श्रवण कुमार घोष, रूमा

साव, शेखर मंडल, मुकेश राजन, अनिल कुमार ओझा, मनोज कुमार, रौशन लाल,

अनवानी बेगम, अमरनाथ चौधरी, श्रीकांत, लल्लू समेत काफ़ी संख्या में अभिभावक

प्रतिनिधि मौजूद रहें।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from पूर्वी सिंहभूमMore posts in पूर्वी सिंहभूम »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!