fbpx Press "Enter" to skip to content

हाथ नहीं मिलाया बल्कि दोनों से अपनी कोहनी मिलायी

  • कोरोना संक्रमण से बचाव का नया संदेश यह कूटनीतिक मुलाकात

  • अजीत डोभाल ने अमेरिकी विदेश और रक्षा मंत्री से भेंट की

  • इस मुलाकात से बौखलाया चीन तुरंत जारी किया बयान

  • सोशल डिस्टेंसिंग का इस मुलाकात में खास ध्यान रखा

विशेष प्रतिनिधि

नईदिल्लीः हाथ नहीं मिलाया बल्कि कोरोना का खास संदेश कूटनीतिक अंदाज में देते हुए

दोनों अमेरिकी शीर्षस्थ लोगों से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कोहनी

मिलायी। इस मुलाकात के अंदाज से वहां मौजूद लोग भी गदगद हो गये। वैसे भारत के

दौरे पर आये अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो और रक्षा मंत्री मार्क एस्पर के साथ

भारतीय प्रतिनिधिमंडल की विभिन्न मुद्दों पर बात-चीत हुई है। इस बात चीत का मुद्दा

बाहर नहीं आने के बाद भी चीन की प्रतिक्रिया अवश्य बाहर आयी है। चीन ने आरोप

लगाया है कि अमेरिका नाहक ही पड़ोसियों के बीच विवाद को उकसाने का काम कर रहा

है।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने दोनों अमेरिकी अधिकारियों का अभिवादन

कोहनी मिलाकर किया। इससे कोरोना से बचाव का संदेश जाने के साथ साथ आपसी

निकटता भी स्पष्ट हो गयी। दुनिया भर में इस तस्वीर के सार्वजनिक होने के बाद ही चीन

ने अपनी तरफ से प्रतिक्रिया दी है। इस मुलाकात के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों

का भी खास ध्यान रखा गया। टू प्लस टू वार्ता के तीसरे संस्करण से पहले साउथ ब्लॉक में

40 मिनट तक बैठक चली. भारत और अमेरिका के बीच रक्षा एवं सुरक्षा संबंधों को बढ़ावा

देने के उद्देश्य से एस्पर और पोम्पिओ बातचीत के लिए भारत आए हैं।

हाथ नहीं मिलाया और सभी ने मास्क भी पहने

तस्वीर में मौजूद सभी लोगों ने मुंह और नाक को फेस मास्क से कवर किया हुआ है।

पोंपियो के मास्क पर अमेरिका का ध्वज प्रिंट है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि

बैठक में उन्होंने सामरिक महत्व के कई मुद्दों और चुनौतियों पर बातचीत की है। दोनों

पक्षों ने साझा उद्देश्यों को आगे बढ़ाने और सभी क्षेत्र में क्षमताओं का निर्माण करने की

आवश्यकता पर जोर दिया ताकि एक सुरक्षित, स्थिर और नियम आधारित क्षेत्रीय एवं

वैश्विक सुरक्षा माहौल सुनिश्चित किया जा सके। भारतीय अधिकारियों ने कहा कि दोनों

पक्षों ने भारतीय सेना के साथ चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के गतिरोध पर भी

बातचीत की, दोनों सेनाएं 175 दिनों से आमने-सामने हैं। दोनों देशों के बीच तनाव उस

समय चरम पर पहुंच गया था, जब गलवान घाटी में सैन्य झड़प हुई। इस सैन्य झड़प में

20 भारतीय जवानों की जान कुर्बान हुई थी। अच्छी खासी संख्या में चीनी सैनिक भी

हताहत हुए थे जिनकी मौत के बारे में चीन ने चुप्पी साध रखी है।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कूटनीतिMore posts in कूटनीति »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from देशMore posts in देश »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

One Comment

  1. […] हाथ नहीं मिलाया बल्कि दोनों से अपनी को… कोरोना संक्रमण से बचाव का नया संदेश यह कूटनीतिक मुलाकात अजीत डोभाल ने अमेरिकी विदेश और … […]

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: