fbpx Press "Enter" to skip to content

शराब बरामदगी मामले में रामसूरत राय को बचा रही नीतीश सरकार : तेजस्वी

+
पटना: शराब बरामदगी मामले में राजनीतिक बहस अब भी जारी है। राष्ट्रीय जनता दल

(राजद) एवं बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने आज फिर

आरोप लगाया कि राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय के मुजफ्फरपुर के बोचहा

हाई स्कूल परिसर से शराब बरामदगी मामले में राज्य सरकार उन्हें बचा रही है। श्री यादव

ने यहां संवाददाता सम्मेलन में स्कूल के बिजली बिल से लेकर अन्य प्रमाण पत्र दिखाते

हुए कहा कि मंत्री श्री राय गलत बयानबाजी कर रहे हैं। स्कूल मंत्री के पिता के नाम पर है

और उन्हीं के द्वारा चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शराब बरामदगी के मामले में

जिस अमरेंद्र प्रताप को स्कूल का संचालक बताकर गिरफ्तार किया गया है दरअसल वह

स्कूल के हेड मास्टर थे। प्रतिपक्ष के नेता ने कहा कि गिरफ्तार हेड मास्टर का मंत्री के

परिवार के साथ किसी तरह का कोई एग्रीमेंट नहीं हुआ और न ही वह स्कूल के मालिक ही

हैं। श्री राय ने यह बयान दिया है कि स्कूल की जमीन उनके भाई के नाम पर है और स्कूल

का संचालक कोई और है। इसे पूरी तरह से गलत करार देते हुए उन्होंने स्कूल का बिजली

बिल दिखाया जो उनके पिता अर्जुन राय के अर्जुन मेमोरियल ज्ञान विद्या मंदिर के नाम

से है। श्री यादव ने सवालिया लहजे में कहा कि कोई स्कूल खुलेगा तो क्या जमीन मालिक

के नाम पर खुलेगा। सरकार के दबाव में सूचना देने वाले को ही इस मामले में गिरफ्तार

कर लिया गया। इस स्कूल की शुरुआत वर्ष 2017 में की गई थी। उन्होंने आश्चर्य व्यक्त

करते हुए कहा कि मंत्री के भाई हंसलाल राय के खिलाफ मामला तो दर्ज होता है लेकिन

अभी तक कार्रवाई नहीं होती है।

 शराब जिस स्थान से बरामद होगा वहां थाना खोला जाएगा

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि शराबबंदी कानून में यह नियम बनाया गया है कि जिस स्थान से

शराब बरामद होगा वहां थाना खोला जाएगा। उन्होंने कहा कि नवंबर में हुई घटना के बाद

अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इस मौके पर हेड मास्टर अमरेंद्र प्रताप के भाई अंशु

ने बताया, “स्कूल की दो चाबी थी जो एक मेरे भाई के पास तथा दूसरी मंत्री श्री राय के भाई

के पास थी। लॉकडाउन में जब स्कूल बंद था तभी 07 नवंबर की रात को एक हरियाणा

नंबर की ट्रक से शराब आई जिसकी जानकारी मिलते ही मेरे भाई ने थाना को सूचना दी।

इसके बाद पुलिस ने शराब और वाहन को जप्त कर सूचना देने वाले मेरे भाई को ही

गिरफ्तार कर लिया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from घोटालाMore posts in घोटाला »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहारMore posts in बिहार »

One Comment

... ... ...
%d bloggers like this: