कोयला लदा 9 हाइवा जब्त करोड़ों रुपए राजस्व घोटाले की आशंका

कोयला लदा 9 हाइवा जब्त करोड़ों रुपए राजस्व घोटाले की आशंका
Spread the love
  • 9
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    9
    Shares

बालूमाथ: कोयला लदा नौ हाईवा जब्त होते ही करोड़ों रुपये के राजस्व घोटाले की आशंका जतायी जाने लगी है।

लातेहार डीटीओ फिल्बियुस बारला के निर्देश पर बुधवार की शाम चेटर ग्राम के समीप कोयला लदे हाइवा की कागजात की जांच की गई।

जांच के क्रम में 9 हाइवा कागजात नहीं मिलने के कारण जब्त कर ली गई है।

जांच टीम में डीटीओ आफीस के प्रधान सहायक उमेश कुमार, सड़क सुरक्षा आइटी मैनेजर तनवीर हुसैनन,

सहायक आइटी राजेश कुमार, बालूमाथ एसडीपीओ नितिन खण्डेलवाल, पुलिस इपेक्टर बीपी महतो,

थाना प्रभारी सनोज चौधरी , एएसआई डीएन सिंह समेत जिला बल के कई जवान शामिल थे।

जब्त वाहन के चालक से कोयला की कागज ली गई।

जांच में पाया गया की कांटा स्लीप, बिल्टी, इन्भावाइस स्लीप में 03.10.2018 दिनांक अंकित है।

जबकि माइनिंग चालान में 04.10.2018 अंकित है।

ये सभी जब्त हाइवा में त्रुटि पायी गयी है। जबकि कई ट्रकों की जांच की गयी।

जिसमें माइनिंग चालान समेत सभी कागजात में काई भी त्रुटि नहीं थी।

कोयले की ढुलाई की गड़बड़ी में सीसीएल अधिकारी भी शामिल

इससे आशंका जताई जा रही है की 03.10.2018 को जितना कोयला कोलियरी से उठाया गया

वह सभी अवैध रूप से गबन करने का मन से उठाया गया है।

एवं इसी माइनिंग चालान पर 04.10.2018 को भी पुना कोलियरी से कोयला उठाकर साइडींग तक पहुचाकर खानापूर्ति की जाएगी।

सीसीएल द्वारा संचालित मगध कोलियरी से बालूमाथ साइडिंग तक ललितपुर पावर प्लांट का कोयला बालूमाथ साइडिंग तक हाइवा से ढुलाई की जाती है।

इस कोयला के ढुलाई के लिए कुण्डी माइंस से चमातु तक अलग सड़क बनाकर ललितपुर कम्पनी को दिया गया है।

तथा कोलियरी परिसर में 7 नम्बर कांटा में सिर्फ इसी कम्पनी के गाड़ियों की कांटा होती है।

कोयला लदे सभी वाहनों का चालान सात नंबर कांटा से निकला

बुधवार को जितने भी हाइवा की जांच की गई वह सभी 7 नम्बर कांटा से ही कांटा किया गया था।

ललितपुर पावर प्लांट के सभी कोयला लदे वाहनो में भारी गड़बड़ी उजागर हुई।

जो हाइवा जब्त की गई है। उस हाइवा में कोयले की किमत 846 रुपए प्रति टन दर्ज है।

इस दर का कोयला मतें कोयला का चुर्ण आरओएम ले जाना है। लेकिन सभी जब्त हाइवा में स्टीम कोयला  है।

सूत्रो के अनुसार स्टीम कोयला का दर लगभग 3000 रुपए प्रति टन मूल्य का उठाया गया है।

जिससे सीसीएल एवं कोयला कम्पनी के मिली भगत से प्रति माह करोड़ो रुपए राजस्व का चुना लगाया जा रहा है।

जब्त हाइवा का सीजर लिस्ट काटा गया

पुलिस व डीटीओ संयुक्त कारवाई में 9 हाइवा जब्त किये गये

जिसमें जेएच12बी3351, जेएच01सीजेड7719, जेएच19बी1481, जेएच02एक्स1695,

जेएच07एच5049, युपी25बीटी 9944, जेएच19ए5170,जेएच02एभी0438,

जेएच19बी7221, को डीटीओ लातेहार द्वारा जब्त कर सिजर लिस्ट काटा गया।

सभी जब्त हाइवा बालूमाथ थाना में लगा दी गई है।

बालूमाथ एसडीपीओ नितिन खण्डेलवाल ने बताया की प्रथम दृष्टिया से सीसीएल और कोयला कारोबारी के मिली भगत से सरकार को करोड़ो रूपसे राजस्व का नुकसान किये जाने का सम्भावना है।

सारे पहलु एस साथ रखकर मामले की जांच की जा रही है।

जांचउपरांत गलत पाये जाने पर सीसीएल के कांटा बाबू, डिस्पैच पदाधिकारी, मैनेजर,

पीओ जीएम, ललीत पुर पावर प्लांट के लिफटर,कोयला कारोबारी, तथा इस कारोबार में जो भी संलिप्त होगे।

उन सब पर प्राथमिकी दर्ज की जायेगी। उन्होने ने कहा की वाहन जब्त करने के बाद माइनिंग कागजात में त्रुटि को

देखते हुए जिला खनन पदाधिकारी कृष्ण कुमार किस्को को अवगत कराया गया।

उनके द्वारा भी माइनिंग कागजात में इस तरह का त्रुटि मिलने से कारवाई की बात कही है।

बहरहाल जो भी हो अगर इस मामले को अगर इस मामले की गहनता से जांच की गई

तो बड़ा घोटाला उजागर होने से इंकर नहीं किया जा सकता है।

कोयला लदे सारे वाहनों की जांच में औऱ गड़बड़ी मिलने की आशंका

एसडीपीओ श्री खण्डेलवाल ने बताया कि अभी कई वाहनो की कागजात की जांच की जा रही है।

और अभी वाहनो को बढ़ने की सम्भावना है।

कुण्डी कोलियरी से प्रति दिन 12000 टन कोयला का उठाने का लक्ष्य।

ललितपुर पावर प्लांट को प्रति दिन कुण्डी कोलियरी के 7 नम्बर कांटा से 12000 टन माल उठाने का लक्ष्य रखा गया है।

जिसके लिए कम्पनी द्वारा 150 हाइवा उठाव के लिए लगाया है।

मांइनिंग चालान में त्रुटी को देखते हुए यह कयास लगाया जा रहा है। एक हाइवा एक दिन में दो ट्रिप करता है

03.10.2018 को 04.10.2018 माइनिंग चालान में अंकित कर 03 तारीख को निकलने वाले

सारे कोयला 150 को ट्रिप के हिसाब से 300 हाइवा एक दिन में गबन करने की साजिश रची गई थी।

एक हाइवा में लगभग 20 टन की ढुलाई किया जाता है।

कोयले की किमत 846 रुपए प्रती टन के हिसाब से एक दिन में 15 करोड़ 22 लाख 80 हजार रुपए  होता है।

और सह खेल पिछले कई महीनों से निरन्तर जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.