fbpx Press "Enter" to skip to content

रांची में रात को लौट रहा है पुराने समय का नजारा

  • रात और सुबह कोहरे गिरना चालू

  • ठिठुरते ठंड में आग जलाना चालू

  • फुटपाथ दुकानों में ऊनी बिकना चालू

  • मौसम बदला तो निकल आये गर्म कपड़े

राष्ट्रीय खबर

रांचीः रांची में रात को पुराना ठंड लौटता महसूस हो रहा है। हाल के दो दशक में इस ठंड का

एहसास काफी कम हो गया था। वरना उससे पहले तो दुर्गा पूजा के मौसम में भी देर रात

को ऊनी स्वेटर पहनकर ही लोग निकला करते थे। कल तक आसमान पर बादल छाये होने

की वजह से तापमान में दिन के वक्त कोई खास बदलाव नहीं देखा गया था। लेकिन रात

के अंधेरे में तापमान का गिरना चालू हो गया था। कल रात से हवा का बहाव भी लोगों ने

महसूस किया था। रात के ओस गिरने का पता भी गाडियों पर जमी बूंदों से दिख गया था।

आज सुबह सूर्योदय के समय भी लोगों ने हल्के कोहरा देखा, जो सूरज के ऊपर चढ़ने के

साथ साथ छंटता चला गया। इस बीच सड़कों पर जीवन यापन करने को मजबूर लोगों ने

कल रात से ही अलाव के लिए आस पास एकत्रित कचड़ों में आग लगाने का सिलसिला

प्रारंभ कर दिया था। अब तक सरकारी स्तर पर अलाव जलाने का कोई एलान नहीं किया

गया है।

आज भी शाम के पहले से ही गाड़ियों खासकर दो पहिया वाहनों पर सवार लोग अपने साथ

गर्म कपड़े लेकर जाते नजर आये। इस दौरान खास तौर पर बच्चों को गर्म कपड़े पहना

दिये गये थे। कुछ लोगों ने भले ही गर्म कपड़े पहने नहीं थे लेकिन उसके कंधे पर उसके

होने का प्रमाण साफ दिख रहा था। मौसम विभाग के मुताबिक रांची का पारा अब तेजी से

नीचे आने लगा है। वैसे भी इस बार कड़ाके की ठंड पड़ने का पूर्वानुमान पहले से ही व्यक्त

कर दिया गया है। इसकी एक प्रमुख वजह सूर्य में लॉकडाउन की स्थिति का चालू होने भी

है। पूर्व में भी ऐसी परिस्थितियों में कड़ाके की ठंड के रिकार्ड मौजूद हैं।

रांची में रात की ऐसी स्थिति कई दशक पहले होती थी

वैसे आज दिन से ही खास तौर पर रांची के फुटपाथ बाजार में ऊनी कपड़ों के बिकने का

सिलसिला प्रारंभ हो गया है। इसी तरह भेंडर मार्केट सहित अन्य इलाकों में भी कंबल

सहित अन्य गर्म कपड़ों के स्टॉक अन्य दिनों की तुलना में अधिक रखे हुए नजर आने लगे

हैं। इससे भी स्पष्ट है कि तापमान के नीचे आने की वजह से बाजार में इनकी मांग अब

बढ़ने लगी है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

One Comment

... ... ...
%d bloggers like this: