fbpx Press "Enter" to skip to content

एनआईए ने निलंबित डीएसपी देविन्दर सिंह के घर छापा मारा

श्रीनगरः एनआईए ने निलंबित पुलिस उपाधीक्षक देविन्दर सिंह के घर पर मंगलवार की

देर शाम को छापा मारा। आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को बताया कि श्रीनगर में इंद्रनगर

इलाके को पूरी तरह सील करने के साथ ही सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया। इसके

बाद एनआईए की टीम ने दविन्दर सिंह के घर पर छापा मारा। तलाशी के दौरान घर के

पार्किंग में खड़ी कार को जब्त कर लिया गया। डीएसपी दविन्दर सिंह को गत 11 जनवरी

को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने उस समय गिरफ्तार किया था , जब वह हिजबुल मुजाहिद्दीन

के दो आतंकवादी नवीद बाबू और रफी अहमद समेत तीन लोगों को लेकर जम्मू जा रहा

था। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उसके आवास पर कई बार छापे मारे , लेकिन प्रारंभिक

जांच पड़ताल के बाद यह मामला एनआईए को सौंप दिया गया। एनआईए ने अब तक

घाटी में बहुत से छापे मारे हैं और आपराधिक दस्तावेज बरामद किए हैं।

एनआईए ने छापा मारा तो टाइमिंग पर उठ गये सवाल

तीन आतंकवादियों के साथ हथियार सहित पकड़े गये डीएसपी के खिलाफ इतने दिनों के

बाद क्यों कार्रवाई हुई, इस पर सवाल खड़े हुए हैं। दिल्ली से लेकर श्रीनगर तक इस बात की

चर्चा है कि तुरंत ही अगर इस छापामारी की कार्रवाई एनआईए द्वारा की गयी होती तो

शायद कुछ सबूत भी हाथ लग जाता। इतने दिनों के अंतराल में हर किसी को सबूत हटाने

और मिटाने का पर्याप्त समय मिल जाता है। ऐसी स्थिति आखिर क्यों हैं, इस वजह से

पहले के पुलवामा हमले और कई अन्य मामलों में देविंदर का नाम आने के बाद संदेह और

बढ़ गया है। कई माध्यमों से लगातार यह आरोप पहले भी लगता रहा है कि आखिर

देविंदर सिंह का नाम लगातार आने के बाद भी उसे किस स्तर से ऐसा संरक्षण लगातार

मिलता रहा है। एनआईए ने निलंबित पुलिस अधिकारी के यहां तुरंत छापा क्यों नहीं मारा,

इस पर कई किस्म की चर्चाएं हवा में तैरने लगी है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

One Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by