fbpx Press "Enter" to skip to content

हैदराबाद मुठभेड़ में मारे गए आरोपियों के परिजनों से मिलेगा एनएचआरसी

हैदराबादः हैदराबाद मुठभेड़ की जांच करने गया मानवाधिकार दल हर पहलु पर गौर करेगा। उल्लेखनीय है कि

हैदराबाद के बाहरी इलाके में शादनगर के निकट चटनपल्ली गांव में पशु चिकित्सक दिशा की बलात्कार के

पश्चात जलाकर हत्या करने के चार आरोपियों की पुलिस मुठभेड़ में मौत होने के मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग का एक सात सदस्यीय दल उनके परिजनों से रविवार को यहां मुलाकात कर सकता है।

दल के सदस्य फिलहाल हैदराबाद के पास सरदार वल्लभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में ठहरे हुए है।

यह दल मुठभेड़ के दौरान घायल हुए पुलिसकर्मियों से घटनास्थल पर हुयी मुठभेड़ की जानकारी भी ले सकता है।

घायल पुलिसकर्मी फिलहाल सिटी अस्पताल में भर्ती है जहां उनका उपचार चल रहा है।

इस लोगों पर 27 नवंबर की रात को पशु चिकित्सक दिशा के साथ बलात्कार के पश्चात जलाकर हत्या करने का

आरोप था। सभी आरोपियों को इस मामले में 29 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था।

घटना की सही जानकारी हासिल करने ,दिशा के सामान की तलाश के लिए तथा पूरा सीन रिक्रिएट करने के

लिये पुलिस आरोपियों को शुक्रवार तड़के घटनास्थल शादनगर के निकट चटनपल्ली गांव ले गयी थी ।

इसी दौरान उन लोगों ने पुलिस दल से हथियार छीनकर उन पर फायरिंग करने की कोशिश की और पथराव

किया तथा डंडों से हमला भी किया था। पुलिस की आत्म रक्षा में की गई फायरिंग में वे चारों मारे गए थे।

इस मुठभेड़ को लेकर सवाल भी खड़े किये जा रहे हैं और इसी परिप्रेक्ष्य में एनएचआरसी का एक दल यहां

जांच के लिए पहुंचा है।

हैदराबाद मुठभेड़ की जांच करने गये दल ने शवों की पड़ताल भी की

दल के सदस्यों ने इस दौरान महबूबनगर जनरल अस्पताल में फोरेंसिक डॉक्टरों की मौजू्दगी में चारों आरोपियों

के शव की जांच पड़ताल की तथा डॉक्टरों से भी इस संबंध में जानकारी ली।

इससे पहले शनिवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजिल सैनी के नेतृत्व में मानवाधिकार दल ने राष्ट्रीय

राजमार्ग 44 के नजदीक घटनास्थल चटनपल्ली गांव का दौरा भी किया था।

दल के साथ घटनास्थल पर आये राज्य पुलिसकर्मियों ने दल को मुठभेड़ होने के कारणों की भी जानकारी दी।

वहीं मुठभेड़ को लेकर लेकर साइबराबाद पुलिस का कहना है कि आरोपियों को घटनास्थल पर ले जाए जाने

दौरान चार में से दो आरोपियों ने पुलिसकर्मियों से हथियार छीन कर उन पर डंडों और पत्थरों से हमला कर

दिया जिसके कारण उन्हें उस समय आत्मरक्षा में गोली चलानी पड़ी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from आंध्र प्रदेशMore posts in आंध्र प्रदेश »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!