fbpx Press "Enter" to skip to content

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर 43 करोड़ का सोना बरामद

  • गुवाहाटी, इंफाल, दीमापुर और डिब्रूगढ़ में तलाशी

  • म्यांमार के रास्ते भारत लाया गया था यह माल

  • पकड़े गये लोग महाराष्ट्र के सांगली जिला निवासी

  • मणिपुर के आये आठ लोग भी साथ में गिरफ्तार

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी: नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर29 अगस्त को खुफिया सूचना के आधार पर असम

के डिब्रूगढ़ से नई दिल्ली जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस में  छापे मारे गए थे। राजस्व

खुफिया निदेशालय ने म्यांमार से तस्करी करके भारत लाया गया 43 करोड़ रुपये का

सोना नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर जब्त किया और आठ लोगों को गिरफ्तार किया है । इस

सोने की कीमत 43 करोड़ रुपये तक आंकी जा रही है । डीआरआई के अधिकारियों के

मुताबिक देश में सोने की बढ़ती कीमतों को देखते हुए इस कीमती धातु की तस्करी बढ़

गई है। पड़ोसी देश म्यांमार से इस धातु की तस्करी हो रही है। राजस्व गुप्तचर निदेशालय

(डीआरआइ) ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर म्यांमार से तस्करी कर लाया गया 43 करोड़

रुपये का सोना पकड़ा है और आठ लोगों को गिरफ्तार किया है।

महाराष्ट्र के सांगली जिले के निवासी आरोपितों के पास से सोने की 504 छड़ें बरामद की

गई। इनका वजन 83.6 किग्रा है। इससे पहले डीआरआइ ने 17 जुलाई को सात करोड़ का

सोना जब्त किया था। उस समय तीन राज्यों में अलग-अलग अभियान चलाकर लगभग

14 किलो सोना जब्त किया था।डीआरआइ ने शनिवार को बताया कि डिब्रूगढ़-नई दिल्ली

राजधानी एक्सप्रेस से शुक्रवार को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पहुंचने के बाद आठ लोगों

को गिरफ्तार किया गया। इन लोगों ने विशेष रूप से सिलवाए गए कपड़े के जैकेट में सोने

की छड़ें छिपा रखी थीं। तस्करी का सोना लाने वालों को फर्जी पहचान (आधार कार्ड) पर

यात्रा करते पाया गया।खुफिया इनपुट से संकेत मिला है कि पकड़ी गई सोने की छड़ें

म्यांमार से मणिपुर में मोरेह अंतरराष्ट्रीय सीमा से भारत में लाई गई थीं। गुवाहाटी से

संचालित तस्करी सिंडिकेट दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में सोना खपाने के प्रयास में था।

नई दिल्ली स्टेशन पर जब्त माल पूरे देश में जाना था

सिंडिकेट ने देश के विभिन्न हिस्सों के गरीब और जरूरतमंद लोगों को कैरियर का काम

करने के लिए भर्ती किया है। उन्हें तेजी और आसानी से अच्छी कमाई का लालच दिया

गया।तस्करों ने सोना तस्करी के लिए हवाई, भूमि और रेल मार्ग का इस्तेमाल किया।

जब्त सोने की छड़ें 99.9 फीसद शुद्ध हैं और उनका कुल वजन 83.621 किलोग्राम है। बयान

में बताया गया है कि इसका बाजार मूल्य 43 करोड़ रुपये है। गिरफ्तार किए गए आठों

व्यक्तियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।अब डीआरआई उन लोगों की

पहचान करने में जुटी है जो गोल्ड की स्मगलिंग करवाते हैं।डीआरआई को पता चला है कि

बरामद किए गए सोने के बिस्किटों पर विदेशी मार्क लगा हुआ था । पूछताछ में मालूम

हुआ कि सभी 8 लोग फर्जी आधार कार्ड लेकर यात्रा कर रहे थे। आरोपियों ने पूछताछ में

बताया कि ये सोना म्यांमार से मणिपुर और गुवाहाटी होते हुए दिल्ली आया था। इस सोने

को दिल्ली, मुंबई और कोलकाता में कुछ लोगों को सप्लाई करना था। राजस्व खुफिया

निदेशालय ने खुफिया सूचना के आधार पर आज सोने की तस्करी के रैकेट को पकड़ने के

लिए गुवाहाटी, इंफाल, दीमापुर और डिब्रूगढ़ में जोरदार अभियान चलाया लेकिन 8 लोगों

के अलावा अभी तक किसी को पकड़ नहीं पा रहा है। खुफिया आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि

राजनीतिक रूप से विश्वसनीय व्यक्ति मामले में शामिल हो सकते हैं। बिना किसी

स्कैनिंग के इतना बड़ा सोना लाने के सवाल ने सभी को हैरान कर दिया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from उत्तर पूर्वMore posts in उत्तर पूर्व »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from म्यांमारMore posts in म्यांमार »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

One Comment

Leave a Reply