fbpx Press "Enter" to skip to content

नेपाल की सीमा से कोरोना संक्रमण फैलाने की सूचना मिली सरकार को

जालिम मुखिया मामले में बिहार हाई अलर्ट पर

रक्सौल, पूर्वी चंपारण : नेपाल की सीमा से बिहार में लोगों

को पहुंचाने के मामले में जालिम मुखिया का नाम आया है।

इस बारे में कुछ और जानकारी मिलने के बाद सीमावर्ती

सभी इलाकों को सतर्क किया गया है।

साथ ही रक्सौल बॉर्डर पर तैनात एसएसबी की ओर से

बेतिया के डीएम को चिट्ठी भी लिखी गई है। अपर मुख्य

सचिव आमिर सुबहानी ने कहा कि अभी तक नेपाल से कोई

भी बिहार में नहीं घुसा है। लेकिन पूर्व सूचना मिलने की वजह से सतर्कता बरती जा रही है।

ऐसी संभावना व्यक्त की गयी है कि कुछलोगों के घुसने की संभावना है।

सभी सीमावर्ती जिलों के डीएम और एसपी को अलर्ट कर दिया गया है। वहीं, एसएसपी को

भी हाई अलर्ट रहने के लिए आदेश जारी कर दिए गए है। गृह सचिव का साफ तौर से

कहना है कि कोई भी बिहार में अवैध प्रवेश नहीं कर सकता। सभी तरफ पुलिस चौकसी

बरत रही है। बेतिया डीएम कुंदन कुमार ने अपनी चिट्ठी में जालिम मुखिया नामक एक

व्यक्ति का जिक्र किया है जो बिहार में कोरोना वायरस फैलाने के लिए नेपाल से कई

संदिग्धों को बिहार में प्रवेश करा रहा है. इस सवाल के जवाब में अपर सचिव ने कहा सब

पर पुलिस कार्रवाई कर रही है और जो भी दोषी होंगे उसे बख्शा नहीं जाएगा। दिल्ली

मरकज मामले पर गृह सचिव ने कहा कि सभी लोगों को चिन्हित कर लिया गया है और

सब पर नजरें बनी हुई है।

नाम हीं नहीं काम से भी है जालिम…

जैसा नाम वैसा गुण भी..! नाम में ही इनका गुण छुपा हुआ है। नाम है ज़ालिम मिया और

काम है कोरोना पीड़ित मुसलमानों को बिहार के रास्ते भारत में प्रवेश कराना। लेकिन

समय रहते इनके नापाक मंसूबों की भनक प्रशासन के कानों तक पहुंच गई। पश्चिम

चंपारण जिला प्रशासन ने बकायदा नेपाल से सटे बॉर्डर पर मौजूद अधिकारियों को पत्र

लिखकर ज़ालिम मियां पर नज़र रखने की हिदायत दी है। फिलवक्त कोरोना की वजह से

देश की धर्मनिरपेक्षता तार-तार होने के कगार पर है। शासन और सरकार को अब दो-दो

मोर्चों पर काम करने की चुनौती है।

नेपाल की सीमा से सटे इलाकों में भय का माहौल

सशस्त्र सीमा बल(एसएसबी) के द्धारा भेजे गए पत्र के खुलासा होने के बाद आमलोगो की

चिंता बढ गयी है। एसएसबी ने बेतिया के डीएम और एसपी को भेजे पत्र मे जानकारी दी है

कि नेपाल के रास्ते से कोरोना संक्रमित जमात वालों को भारत में भेजने की साजिश रच

रहा है। पत्र में मुख्य साजिशकर्त्ता के रूप मे जालिम मुखिया के नाम का उल्लेख किया

गया है। बताते चले जालिम मुखिया नामक यह शख्स नेपाल अंतर्गत परसा जिला के

सेरवा थाना क्षेत्र के जगन्नाथपुर गांव का रहने वाला है। जो सिकटा प.चंपारण के सीमा के

बिल्कुल पास है। जालिम मुखिया नेपाल मे बैठकर भारत विरोधी गतिविधियो को अंजाम

देता रहा है। अवैध हथियारो की सप्लाई के साथ एफआईसीएन तस्करी में भी इसकी

संलिप्ता बतायी जा रही है। नेपाली माओवादियो से गहरी तालुक्कात रखने वाले जालिम

के करतूतो के खुलासे के बाद नेपाल सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गयी है। इस खुलासा के बाद

नेपाल सरकार की भी नींद उड़ गई है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!