fbpx Press "Enter" to skip to content

लातेहार में फिर नक्सली हमला से पुलिस सतर्कता की पोल खुली




  • हमले में पुलिस के तीन लोग मारे जाने की खबर
  • एन एच 22 पर नक्सलियों में पुलिस पर हमला किया
  • चुनाव से पहले नक्सली गतिविधि बढऩे की सूचना थी
  • पुलिस ने फिर से सुरक्षा नियमों का उल्लंघन किया
संवाददाता

रांचीः लातेहार में फिर नक्सली हमला हुआ है। इस हमले में अब तक तीन

लोगों के मारे जाने की खबर है। मारे गये लोगों में एक एएसआइ और

होमगार्ड के तीन जवानों के नाम आये हैं। सबसे हैरत की बात है कि

नक्सलियों ने नेशनल हाईवे 22 पर यह हमला किया है। इस एक घटना

ने चुनाव के मौके पर पुलिस की सतर्कता की पोल खोलकर रख दी है। हर

ऐसे हमले के बाद फिर से पुलिस की तरफ से इलाके की घेराबंदी किये

जाने की जानकारी दी गयी है।

लातेहार जिले के चंदवा थाना क्षेत्र में नक्सलियों ने यह हमला किया है।

इससे पहले भी नक्सलियों ने यहां की रेलवे साइडिंग पर हमला किया था

चंदवा के रेलवे साइडिंग पर हुए नक्सली हमले का देखें वीडियो

एनएच-22 पर देर शाम हुए इस हमले की सूचना रांची पहुंचते ही यहां से

अतिरिक्त सुरक्षा बलों को वहां के लिए रवाना किया गया है। लेकिन

विधानसभा चुनाव के की सुरक्षा व्यवस्था के बीच नक्सलियों ने इस

कार्रवाई को अंजाम देकर पुलिस-प्रशासन को खुली चुनौती दी है।

नक्सलियों के हमले में शहीद एसआइ का नाम सुकिया उरांव है। वह

गुमला जिले घाघरा के निवासी बताये गये हैं। घटना थाना से महज

दो किलोमीटर की दूरी पर रुकइया मोड़ पर हुई है. डीआइजी

अमोल वी होमकर ने कहा है कि सुरक्षा में चूक के कारण यह घटना

हुई है। लातेहार के एसपी घटनास्थल पर पहुंच गये हैं। जानकारी

के अनुसार, पीसीआर वैन में गश्ती कर रहे चारों सिपाही रुकइया मोड़

पर रुके थे।

लातेहार के चंदवा इलाके के रुकइया मोड़ पर हुआ हमला

इसी बीच रात करीब आठ बजे 15-20 नक्सलियों ने वैन पर ताबड़तोड़

फायरिंग शुरू कर दी। जवानों की तरफ से भी जवाबी फायरिंग किये

जाने का दावा किया गया है। बताया जा रहा है कि दोनों तरफ से

एक सौ राउंड से अधिक गोलियां चली हैं। यह मुठभेड़ करीब आधे

घंटे तक चलता रहा। पुलिस को भारी पड़ता देख नक्सली भाग

निकले। पुलिस का दावा है कि जवाबी कार्रवाई में पुलिस की गोलियों

से भी कई नक्सली घायल हुए हैं। लेकिन अंधेरे का फायदा उठाते हुए

नक्सली उन्हें अपने साथ लेकर भागने में सफल रहे। सुरक्षाबलों के

द्वारा पूरे इलाके में सर्च अभियान चलाया जा रहा है। शहीदों में

एएसआइ सुकिया उरांव, होमगार्ड दिनेश राम और ड्राइवर जमुना

प्रसाद शामिल हैं. एक शहीद होमगार्ड के नाम की अभी जानकारी

नहीं मिल सकी है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from आतंकवादMore posts in आतंकवाद »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from लातेहारMore posts in लातेहार »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

One Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: