fbpx Press "Enter" to skip to content

नवाज शरीफ की बेटी को पिता के साथ रहने की इजाजत

  • पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की हालत गंभीर
  • इमरान ने दी बेटी को साथ रहने की इजाजत 

लाहौर: नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज को अपने पिता के साथ रहने की ईजाजत दे दी गयी है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मरियम नवाज को उनके पिता एवं

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ यहां के एक प्रमुख अस्पताल में रखने के लिए निर्देश जारी किए हैं।

मरियम को वापस जेल भेजने पर संघीय सरकार की आलोचना होने के बाद खान ने यह आदेश जारी किया है।

मीडिया में आई एक खबर में यह जानकारी दी गई है।

नवाज शरीफ की तबियत बिगड़ने पर कोट लखपत जेल से उनसे मिलने आई

मरियम के खुद भी बीमार पड़ जाने के बाद उन्हें बुधवार को लाहौर के सर्विसेज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

मरियम (45) को वीवीआईपी-2 वार्ड में भर्ती कराया गया जबकि उनके पिता वीवीआईपी-1 वार्ड में भर्ती थे।

कुछ जांच के बाद मरियम को वापस जेल भेज दिया गया।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज की उपाध्यक्ष मरियम को पिछले महीने जवाबदेही

अदालत ने धनशोधन के एक मामले में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

बुधवार को उनकी हिरासत की अवधि को दो और दिन के लिए बढ़ा दिया गया था।

पंजाब के गवर्नर मोहम्मद सरवार ने बृहस्पतिवार को कहा कि खान ने मरियम और

शरीफ की सेहत पर जानकारी मांगी थी।

उन्होंने मरियम को शरीफ के साथ अस्पताल में रखने के लिए कानूनी जरूरतों को

पूर करने के निर्देश जारी किए।

खबर में कहा गया कि सूत्रों ने दावा किया है कि खान ने पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बजदार से भी बात की

और मरियम को उनके पिता के साथ अस्पताल में रखने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।

इससे पहले पीएमएल-एन प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने कहा कि मरियम को

जब वापस जेल भेजा गया तब उनका रक्तचाप बढ़ा हुआ था

और ह्रदय गति सामान्य नहीं थी।

औरंजगेब ने कहा कि मरियम को इस तरह जेल वापस भेजना शरीफ को दिमागी तौर पर

परेशान करने की एक और कोशिश है।

नवाज शरीफ का, प्लेटलेट घट जाने की समस्या की वजह से इजाज चल रहा है।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून में बृहस्पतिवार को प्रकाशित एक खबर में कहा गया था किशरीफ (69) की प्लेटलेट्स सोमवार को काफी ज्यादा घट गईं

और उनकी हालत गंभीर हो गई। उन्हें कोट लखपत जेल से लाहौर के सर्विसेज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by