fbpx Press "Enter" to skip to content

नावाडीह गांव में चाइल्ड लाइन की सक्रियता से नाबालिग की शादी रुकी

बोकारो: नावाडीह गांव में चाइल्डलाइन की सक्रियता से एक नाबालिग लड़की की शादी

रुकी। जानकारी के अनुसार बीते शुक्रवार को चाइल्डलाइन पर आगामी 28 जून को

पेटरवार थाना के नावाडीह के टोला बीरगजार में एक नाबालिग की शादी तय होने की

सूचना दी गई। सूचना के आधार पर चाइल्डलाइन सब सेंटर, बहादुरपुर सहयोगिनी की

टीम ने गांव में विजिट कर जानकारी प्राप्त किया। जिसमें पता चला कि ईश्वर मांझी की

16 वर्षीय नाबालिग बेटी का विवाह कसमार प्रखंड ग्राम पंचायत पोंडा निवासी रामलाल

मरांडी पिता मेहीलाल मांझी से होना तय हुआ था। चाइल्डलाइन समंवयक तपन कुमार

अड्डी के द्वारा बाल विवाह करने से मना किया गया और बताया गया कि बाल विवाह

करना कानून जुर्म है। इसके बाद पेटरवार थाना में सोमवार को चाइल्ड लाइन की

उपस्थिति में लड़की के माता गुवामनी देवी, पिता ईश्वर मांझी, अंगबाली दक्षिणी मुखिया

अनिता देवी, पंसस चांदमुनी देवी, बाल कल्याण पदाधिकारी, पेटरवार सोनालाल मुर्मू के

समक्ष एकरारनामा किया गया। जिसमें यह तय हुआ कि लड़की का विवाह 18 वर्ष पूरा हो

जाने के बाद ही किया जाएगा। अगर इस बीच विवाह किया जाएगा तो कानूनी कार्रवाई की

जाएगी। बाल विवाह रोकने में चाइल्डलाइन टीम मेंबर सूर्यमनी देवी, उस्मान अंसारी एवं

रवि कुमार रॉय की प्रमुख भूमिका रही। मामले की सूचना चाइल्ड लाइन ने बाल विवाह

निषेध पदाधिकारी सह पेटरवार बीडीओ इंदर कुमार को भी दी है।

नावाडीह के अलावा भी कई इलाकों में मिली है सफलता

चाईल्ड लाइन की सक्रियता पूरे झारखंड राज्य में इन दिनों काफी बढ़ी हुई है। इस

सक्रियता की वजह से राज्य में नाबालिगों की शादी रोकने में अनेक मामलों में सफलता

मिली है। अधिकांश मामलों में समझाये जाने के बाद दोनों परिवार के लोग मान गये हैं।

कुछ मामलों में चाईल्ड लाइन को अपने कानूनी प्रावधानों का सहारा भी लेना पड़ा है। तब

जाकर नाबालिगों की शादी रोकी गयी है। इसके अतिरिक्त बाल श्रम और मानव तस्करी

के मामलों में भी चाइल्ड लाइन ने नावाडीह के घटना के अलावा भी कई अन्य इलाकों मे

सराहनीय कार्य किया है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!