fbpx Press "Enter" to skip to content

राष्ट्रीय महिला आयोग ने डीजीपी के साथ ऑनलाइन की बैठक

रांची: राष्ट्रीय महिला आयोग की झारखंड पुलिस के अधिकारियों के साथ ऑनलाइन

बैठक हुई। इस बैठक में सभी राज्यों के पुलिस प्रमुखों के साथ नोवेल कोरोना के मद्देनजर

महिलाओं से संबधित मामले पर चर्चा हुई।बैठक में महिलाओं के खिलाफ घरेलू हिंसा की

पीड़ितों को तत्काल और समय रहते राहत तथा सहायता सुनिश्चित करने, महिलाओं के

विरुद्ध होनेवाले विभिन्न साइबर अपराधों के मामलों से निपटने, कोविड -19 महामारी के

कारण अन्य राज्यों से वापस लौटीं प्रवासी महिलाओं से संबंधित अपराधों से निपटने तथा

राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन अवधि में उठाये गये अन्य प्रभावी कदमों पर विस्तृत रूप से चर्चा

की गयी।

राष्ट्री महिला आयोग को बताया 24 जिलों में कुल 36 महिला थाना कार्यरत

डीजीपी एमवी राव ने राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष को महिलाओं के विरुद्ध

सम्भावित अपराध पर अंकुश रखने के लिए झारखंड पुलिस द्वारा हर-संभव उठाये गये

एहतियाती कदमों की विस्तृत जानकारी दी। झारखंड पुलिस के द्वारा बुजुर्गों को विशेष

रूप से चिकित्सीय सुविधाएं भी उपलब्ध करायी जाती रही हैं। जो एक सराहनीय कदम

रहा है। डीजीपी ने कहा कि झारखंड में महिलाओं के विरुद्ध अपराध की रोकथाम एवं

महिलाओं की सुरक्षा के लिए राज्य के 24 जिलों में कुल 36 महिला थाना कार्यरत हैं। सभी

महिला थानों में न सिर्फ महिला पुलिस पदाधिकारी/कर्मी की प्रतिनियुक्ति है बल्कि

संबंधित थानों में काउंसलिंग सेंटर भी कार्यरत हैं।

राज्य के कुल 8 जिलों में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल कार्यरत

डीजीपी एमवी राव ने महिला आयोग को जानकारी देते हुए कहा कि, राज्य के कुल 8 जिलों

में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल कार्यरत कार्यरत हैं। महिलाओं और बच्चों की समस्याओं से

संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए सीआइडी झारखंड में महिला हेल्पलाइन नं0-

9771432103 एवं चाईल्ड हेल्पलाइन नं0-8877444444 चालू है। महिलाओं के विरुद्ध

साईबर क्राइम दर्ज कराने के लिए राज्य में कुल सात साइबर थाने में सुविधा उपलब्ध है।

महिलाओं की सुरक्षा एवं संरक्षण के लिए झारखंड पुलिस का ऐन्ड्रॉयड आधारित मोबाइल

ऐप्लीकेशन ह्यशक्ति ऐप्पह्णभी सेवारत है, जो आपात स्थिति में महिलाओं की सुरक्षा के

लिए काफी कारगर साबित हो रहा है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!